ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशमिशन-2024 के लिए दलितों को नये दांव से साधेगी भाजपा, डॉ आंबेडकर के नाम पर रखेगी इस मेडिकल कॉलेज का नाम

मिशन-2024 के लिए दलितों को नये दांव से साधेगी भाजपा, डॉ आंबेडकर के नाम पर रखेगी इस मेडिकल कॉलेज का नाम

मिशन-2024 के लिए दलितों को भाजपा नये दांव से साधेगी। कन्नौज राजकीय मेडिकल कॉलेज का नामकरण डा. आंबेडकर के नाम पर करने की तैयारी है। समाज कल्याण मंत्री की पहल पर तैयार प्रस्ताव पर सीएम मुहर का इंतजार।

मिशन-2024 के लिए दलितों को नये दांव से साधेगी भाजपा, डॉ आंबेडकर के नाम पर रखेगी इस मेडिकल कॉलेज का नाम
Srishti Kunjराजकुमार शर्मा,लखनऊSun, 26 Nov 2023 06:43 AM
ऐप पर पढ़ें

मिशन-2024 के लिए भाजपा दलितों को अब एक नये दांव से लुभाएगी। इसके लिए कन्नौज के राजकीय मेडिकल कॉलेज का नाम बदलने की तैयारी है। इसका मेडिकल कॉलेज का नामकरण बाबा साहब डा. भीमराव आंबेडकर के नाम पर किए जाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। कन्नौज से विधायक और प्रदेश सरकार में समाज कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) असीम अरुण की पहल पर तैयार इस प्रस्ताव को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की स्वीकृति के लिए भेजा गया है। सीएम की हरी झंडी मिलते ही नाम बदल जाएगा।

यूपी में 2024 के लिए मिशन-80 का लक्ष्य लेकर चल रही भाजपा हर सियासी मोर्चा दुरुस्त करने में जुटी है। सबसे ज्यादा फोकस सामाजिक समीकरण साधने पर है। पार्टी एक ओर जहां पिछड़ों को जोड़े रखने की मुहिम चला रही है, वहीं निगाहें दलित वोट बैंक पर भी हैं। बीते दो दशक से अधिक समय से बसपा को ऑक्सीजन देने वाले इस वोट बैंक को साधने में यदि पार्टी सफल रही तो विरोधियों की राह बेहद मुश्किल हो जाएगी। डा. आंबेडकर को दलित और वंचित वर्ग की अस्मिता का प्रतीक माना जाता है। इन्हीं के इर्द-गिर्द बसपा की राजनीति घूमती है। अब भाजपा ने इन्हीं के नाम के सहारे दलितों को रिझाएगी।

ये भी पढ़ें: यूपी कांग्रेस कमेटी में मेरठ-सहारनपुर मंडल को तरजीह, सामाजिक समीकरण साधने की कोशिश

सपा सरकार में बदला था नाम
दरअसल मंत्री बनने के बाद ही असीम अरुण ने मेडिकल कॉलेज का नाम बदलवाने की मुहिम शुरू कर दी थी। जहां तक कन्नौज के मेडिकल कॉलेज का सवाल है तो इसकी नींव 2006 में रखी गई थी। बसपा शासन में 2008 में इसका नामकरण डा. भीमराव आंबेडकर के नाम पर किया गया। मगर यह 2012 में जब शुरू हुआ तो तत्कालीन सपा सरकार ने इसका नाम राजकीय मेडिकल कॉलेज कन्नौज कर दिया था। असीम अरुण का तर्क है कि मेडिकल कॉलेज के 2008 वाले नाम की ही बहाली की जाए। समाज कल्याण मंत्री की पहल के बाद स्वास्थ्य विभाग ने इसका प्रस्ताव तैयार कराकर मुख्यमंत्री कार्यालय को भेज दिया है।

सामाजिक अस्मिता के प्रतीकों के नाम पर नामकरण
प्रदेश की योगी सरकार ने सामाजिक समीकरण साधने के लिए पहले ही सामाजिक अस्मिता के प्रतीक महापुरुषों के नाम पर शैक्षणिक संस्थाओं और चिकित्सा संस्थानों के नामकरण की मुहिम चला रखी है। महाराजा सुहेलदेव विश्वविद्यालय, प्रतापगढ़ में सोनेलाल पटेल मेडिकल कॉलेज, एटा में वीरांगना अवंतीबाई लोधी, सिद्धार्थनगर में माधव प्रसाद त्रिपाठी मेडिकल कॉलेज और अलीगढ़ में राजा महेंद्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय आदि के नामकरण इसके उदाहरण हैं। ऐसे में कन्नौज मेडिकल कॉलेज का नामकरण डा. भीमराव आंबेडकर के नाम पर हुआ तो भाजपा इसे दलितों के बीच चुनावी मुद्दा बनाएगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें