ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशरुहेलखंड यूनिवर्सिटी के कुलपति का फेक अकाउंट बना कॉलेजों को भेजे मेल, पूछा- कैसा चल रहा काम

रुहेलखंड यूनिवर्सिटी के कुलपति का फेक अकाउंट बना कॉलेजों को भेजे मेल, पूछा- कैसा चल रहा काम

रुहेलखंड यूनिवर्सिटी के कुलपति का फेक अकाउंट बना कॉलेजों को मेल भेजे गए हैं। कुलपति के डोमेन नेम पर जीमेल अकाउंट रजिस्टर करवाया गया और इसी से कॉलेजों को मेल कर काम काज के बारे में पूछा।

रुहेलखंड यूनिवर्सिटी के कुलपति का फेक अकाउंट बना कॉलेजों को भेजे मेल, पूछा- कैसा चल रहा काम
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,बरेलीThu, 22 Feb 2024 12:34 PM
ऐप पर पढ़ें

बरेली में किसी नटवरलाल ने रुहेलखंड यूनिवर्सिटी के कुलपति का फेक अकाउंट बनाकर कॉलेजों आदि को ई-मेल कर दिए। जीमेल से मेल आया देखकर कालेज वाले चौंक उठे। उन्होंने यूनिवर्सिटी को इसकी सूचना दी। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने पत्र जारी कर सभी कॉलेजों, शिक्षकों और छात्रों को अलर्ट किया है। रुहेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति के नाम पर एक फेक ईमेल अकाउंट बनाकर कई लोगों को हाल ही में ईमेल भेजा गया है। 

उक्त ईमेल को vchancellor26@gmail.com के डोमेन नेम पर जीमेल पर रजिस्टर्ड किया गया है। इस एकाउंट से कई कॉलेजों के साथ-साथ कुलपति के संपर्क में रहने वाले कुछ लोगों को भी मेल भेजा गया। मेल में कामकाज की स्थिति और हाल-चाल आदि के बारे में पूछा गया है। 

छात्रों को किया अलर्ट
मीडिया प्रभारी डॉ. अमित सिंह ने विश्वविद्यालय से संबद्ध सभी छात्रों, शिक्षकों अधिकारियों आदि से कहा है कि उपरोक्त ईमेल और उससे जारी सभी मेल पूर्णतया फेक हैं। उक्त ईमेल से विश्वविद्यालय अथवा कुलपति का कोई संबंध नहीं है। उक्त ईमेल की किसी भी पोस्ट को आधिकारिक रूप में संज्ञान में न लिया जाए। गुरुवार को इस मामले में एफआईआर आदि की अग्रिम कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने ताया कि रुहेलखंड विश्वविद्यालय बरेली के कुलपति की अधिकृत ई मेल coffice@mjpru. ac. in है।

शादी के 48 घंटे बाद मां बनी दुल्हन ने बेटे को दिया जन्म, पति और ससुराल वालों ने किया ये काम

मेल मिलने पर चौंके लोग
कुलपति की आधिकारिक मेल को भली भांति जानने वाले लोग जीमेल से मेल आने पर चौक गए। इसके बारे में तत्काल विश्वविद्यालय को अवगत कराया गया।

पहले भी हुआ था ऐसा
बता दें कि कुछ साल पहले भी ऐसा हो चुका है। उस समय रुहेलखंड विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अनिल शुक्ला की फर्जी मेल आइडी बनाकर ठगी की योजना थी। भेजे गए संदेश के नीचे एक लिंक भी दिया गया था। एक शिक्षक ने जैसे ही उसे क्लिक किया तो उसमें प्रतिक्रिया के लिए धन्यवाद देते हुए गिफ्ट कार्ड ऑनलाइन आर्डर करने के लिए रुपये की जरूरत बताई गई थी। यह भी लिखा था कि कितने रुपये की जरूरत होगी और वापस भी कर दिए जाएंगे। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें