ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशकरंट से लाइनमैन की मौत चार घंटे लटका रहा शव, बिना बिजली कटवाए हाईटेंशन लाइन पर चढ़ा था

करंट से लाइनमैन की मौत चार घंटे लटका रहा शव, बिना बिजली कटवाए हाईटेंशन लाइन पर चढ़ा था

मध्यांचल विद्युत वितरण खंड बरेली डिवीजन में एक बार फिर से लापरवाही के चलते एक निविदाकर्मी की करंट से मौत हो गई। हाईटेंशन लाइन के खंभे से चिपका शव चार घंटे तक खंभे पर ही लटकता रहा।

करंट से लाइनमैन की मौत चार घंटे लटका रहा शव, बिना बिजली कटवाए हाईटेंशन लाइन पर चढ़ा था
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,फरीदपुरSat, 02 Dec 2023 11:16 AM
ऐप पर पढ़ें

मध्यांचल विद्युत वितरण खंड बरेली डिवीजन में एक बार फिर से लापरवाही के चलते एक निविदाकर्मी की करंट से मौत हो गई। शव चार घंटे तक खंभे पर ही लटकता रहा। पुलिस ने क्रेन से शव को नीचे उतरवाया। वहीं, परिजनों ने साजिश के तहत हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद केस दर्ज करने के आश्वासन पर परिजन शांत हुए। अधीक्षण अभियंता ग्रामीण ने जांच को कमेटी गठित की है।

बिथरी चैनपुर के नगरिया बिहार जप्ती निवासी शेर सिंह (50) फरीदपुर बिजलीघर की भिडौलिया फीडर पर निविदा लाइनमैन थे। शुक्रवार को रसुईया स्टेशन के निकट खंभे का इंसुलेटर फट गया। इसके बाद 11 केवी हाईटेंशन लाइन का तार टूट गया था। शेर सिंह शटडाउन लेने के बाद सुबह 1130 बजे खंभे पर चढ़कर तार जोड़ने का कार्य कर रहे थे। इसी बीच उपकेंद्र से बिना शटडाउन वापस लिए ही आपूर्ति शुरू कर दी गई। करंट लगने से शेर सिंह खंभे के ऊपरी हिस्से में चिपक गए। अधीक्षण अभियंता ग्रामीण अशोक चौरसिया ने कहा कि दोषियों पर सख्त कार्रवाई होगी। 

मौत के तीन महीने बाद खुला राज, जहर से हुई थी युवती की हत्या, प्रेमी जेल भेजा

शटडाउन वापस लिए बिना ही आपूर्ति
फरीदपुर में हाई टेंशन लाइन को ठीक करने के लिए लाइनमैन शेर सिंह सुबह 11 बजे पहुंचे और पांच मिनट के अंदर हादसा हो गया। उनका शव खंभे में चिपका हुआ था। घर वालों का आरोप है कि कई कर्मचारी रंजिश मानते थे। जानबूझकर बिना शटडाउन वापस लिए ही आपूर्ति शुरू कर दी गई। इससे लाइनमैन की मौत हुई।परिवार के लोग जल्द से जल्द शव उतारे जाने की मांग कर रहे थे, लेकिन बिजली विभाग के पास शव उतारे जाने का कोई साधन नहीं था। बिथरी चैनपुर पुलिस के पहुंचने के बाद क्रेन को मंगवाया गया। इसके बाद शाम चार बजे शव उतरा जा सका।

लोगों में लोकप्रिय थे शेर सिंह
फरीदपुर के बिजली घर में संविदा लाइनमैन के पद पर तैनात शेर सिंह 14 वर्षों से भिडौलिया विद्युत उपकेंद्र पर निविदा के तहत काम कर रहा था। भिंडौलिया फीडर से पोषित सभी गांव के लोग उनके परिचित हो गए थे। आधी रात में एक फोन कॉल पर शेर सिंह लाइन को ठीक करने का काम करते थे। इसलिए ग्रामीणों के बीच उनकी अच्छी पहचान व पकड़ भी थी।

नहीं थे सुरक्षा उपकरण, तानाशाही का आरोप
उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन निविदा-संविदा कर्मचारी संघ के अध्यक्ष रिंकू श्रीवास्तव ने मध्यांचल विद्युत वितरण खंड के अधिकारियों पर निशाना साधा।संगठन की ओर से कई बार सुरक्षा उपकरण मांगे जा चुके हैं लेकिन कोई सुरक्षा उपकरण अभी तक उपलब्ध नहीं कराए गए।

दो अधिशासी अभियंता करेंगे घटना की जांच
अधीक्षण अभियंता ग्रामीण वितरण खंड अशोक कुमार चौरसिया ने बताया कि पूर्वाह्न 11.15 बजे हुए हादसे की जानकारी पर दोपहर एक बजे शव को हाइड्रा लगवाकर नीचे उतारकर पोस्टमार्टम कराया गया। घटना की जांच के लिए अधिशासी अभियंता चमन सिंह, अधिशासी अभियंता ओ.पी पाल की संयुक्त कमेटी बनाकर जांच के आदेश दिए गए है। कमेटी सात दिन में जांच पूरी कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। जांच रिपोर्ट के आधार पर दोषियों पर कार्रवाई होगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें