ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशसरकारी स्कूल में टीचर की जगह गांव की लड़की क्लास पढ़ाती मिली, 5000 रुपये प्रति महीने की सैलेरी पर रखी

सरकारी स्कूल में टीचर की जगह गांव की लड़की क्लास पढ़ाती मिली, 5000 रुपये प्रति महीने की सैलेरी पर रखी

बरेली के फरीदपुर में कलीनगला के प्राइमरी स्कूल में प्रधानाध्यापिका की जगह पर 5000 रुपये प्रति महीने पर गांव की ही एक लड़की से छात्र-छात्राओं को पढ़वाने का आरोप लगाते हुए शिकायत की है।

सरकारी स्कूल में टीचर की जगह गांव की लड़की क्लास पढ़ाती मिली, 5000 रुपये प्रति महीने की सैलेरी पर रखी
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,फरीदपुरThu, 07 Dec 2023 12:03 PM
ऐप पर पढ़ें

बरेली के फरीदपुर में कलीनगला के प्राइमरी स्कूल में प्रधानाध्यापिका की जगह पर 5000 रुपये प्रति महीने पर गांव की लड़की से नौनिहालों को पढ़वाने का आरोप लगाते हुए शिकायत की है। उन्होंने बच्चों को पढ़ा रही युवती का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया है। प्रधान पति ने बीएसए से शिकायत की है। बीएसए के निर्देश पर बीईओ ने मामले की जांच शुरू की है।

ग्रामीणों के मुताबिक भुता के कलीनगला गांव के प्राइमरी स्कूल में बरेली की प्रियंका गंगवार प्रधानाध्यापक के पद पर तैनात हैं। आरोप है कि प्रधानाध्यापिका स्कूल नहीं आ रही है। अपनी जगह पर उन्होंने 5000 रुपये प्रति महीने पर गांव की एक लड़की को पढ़ाने पर लगा दिया है। स्कूल के बच्चे अभिभावकों से इसकी शिकायत कर रहे थे। अभिभावकों ने महिला ग्राम प्रधान अखिलेश यादव से शिकायत की।

अंतिम संस्कार रोककर मायके वालों ने जलती चिता से निकाला बेटी का शव, और फिर...

बुधवार को ग्राम प्रधान अखिलेश यादव के पति तमाम ग्रामीणों के साथ स्कूल में पहुंचे। प्रधानाध्यापिका मौजूद नहीं थी। गांव की लड़की बच्चों को पढ़ा रही थी। इसके बाद प्रधान पति और उनके साथी ग्रामीणों ने पढ़ाते हुए लड़की का वीडियो बनाया। इसके बाद उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। ग्राम प्रधान अखिलेश यादव ने बीएसए को मामले की शिकायत की। जिसके बाद उन्होंने भुता के बीईओ को कार्रवाई का निर्देश दिया।

बीईओ भानु शंकर गंगवार ने बताया की प्रधान पति गलत आरोप लगा रहे हैं। प्रधान पति ने स्कूल कक्ष में सीमेंट रखवाने के लिए कहा था। प्रधानाध्यापिका ने सीमेंट रखने से इनकार कर दिया। जिसके बाद वे रंजिश मानकर गलत आरोप लगा रहे हैं। फिर भी उनके आरोपों की जांच कराई जाएगी। जांच के बाद मामला सही मिलने पर कार्रवाई करेंगे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें