ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशआस्था स्पेशल ट्रेनों से पहुंच रहे यात्री ई-बसों से जाएंगे राम मंदिर, अयोध्या की इन जगहों पर मिलेंगी

आस्था स्पेशल ट्रेनों से पहुंच रहे यात्री ई-बसों से जाएंगे राम मंदिर, अयोध्या की इन जगहों पर मिलेंगी

आस्था स्पेशन ट्रेनों से अयोध्या पहुंच रहे यात्रियों को राम मंदिर पहुंचने में अब आसानी होगी। इसके लिए 150 ई-बसें चलाई जाएंगी। ये ई-बसें यात्रियों को राम मंदिर ले जाएंगी। जानें कहां से मिलेंगी।

आस्था स्पेशल ट्रेनों से पहुंच रहे यात्री ई-बसों से जाएंगे राम मंदिर, अयोध्या की इन जगहों पर मिलेंगी
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,अयोध्याWed, 31 Jan 2024 07:43 AM
ऐप पर पढ़ें

रामनगरी अयोध्या के विभिन्न मार्गों पर फर्राटा भरने वाली ई- बसों को अब रेलवे स्टेशनों से चलाया जाएगा। देश के कोने- कोने से आने वाली आस्था स्पेशल ट्रेनों के यात्रियों को रेलवे स्टेशन से राममंदिर तक बसों का आवागमन सुनिश्चित कराया जाएगा। चार रेलवे स्टेशन से यात्रियों की सुविधा के लिए 150 ई- बसों को चलाने को फैसला लिया गया है जिससे यात्री राम मंदिर आसानी से पहुंच पाएंगे।

उपनगरीय बस सेवा के तहत अयोध्या के पांच निर्धारित मार्गों पर संचालित 225 ई- बसों में अब कटौती कर ली गई है। संचालित बसों में 150 बसों को आस्था स्पेशल के तीर्थयात्रियों के लिए चलाया जाएगा। बसों को सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या धाम बस स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। अब आम यात्रियों के लिए मार्गों पर चलाई जा रही ई-बसों को तीर्थयात्रियों के लिए अधिग्रहण कर लिया गया। ऐसे हालात में अब विभिन्न मार्गों पर आम यात्री महज 75 बसों के भरोसे सफर तय करेंगे।

अयोध्या मंदिर आंदोलन से जुड़े सेनानी लाए जा रहे रामलला के दर्शन करने, RSS-विहिप ने बनाई योजना

मालूम हो कि देश के कोने- कोने से रामदर्शन को आने वाले आस्था स्पेशल ट्रेनों का ठहराव अयोध्या धाम जंक्शन, कैण्ट, सलारपुर व दर्शननगर रेलवे स्टेशन पर होगा। ई- बसें इन स्टेशनों से दर्शनार्थियों को बैठाकर राममंदिर दर्शन कराएंगी और वही बसें पुन रेलवे स्टेशन पर वापस ले जाकर छोड़ेंगी। हालांकि अभी किस स्टेशन से कितनी बसों को संचालन होगा यह खाका तैयार नहीं हो सका है। उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही खाका तैयार करके संबंधित स्टेशनों को बसों को आवंटित कर दिया जाएगा। फिलहाल अभी निर्धारित स्टेशनों से भीड़ की उपलब्धता के मुताबिक आवश्यकतानुसार ई- बसें चलाई जाएंगी। बसों को रेलवे स्टेशन से दर्शनार्थियों के लिए चलाने को फैसला सरकार ने लिया है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें