DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › यूपी विधानसभा स्पीकर ने बताया, क्यों किया महात्मा गांधी के साथ किया राखी सावंत का जिक्र
उत्तर प्रदेश

यूपी विधानसभा स्पीकर ने बताया, क्यों किया महात्मा गांधी के साथ किया राखी सावंत का जिक्र

लाइव हिन्दुस्तान,लखनऊPublished By: Dinesh Rathour
Mon, 20 Sep 2021 08:25 AM
यूपी विधानसभा स्पीकर ने बताया, क्यों किया महात्मा गांधी के साथ किया राखी सावंत का जिक्र

यूपी विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित का रविवार की शाम उन्नाव में आयोजित प्रबुद्ध सम्मेलन का एक वीडियो वायरल हो गया। जिसमें उन्होंने राखी सावंत को लेकर आपत्तिजनक बात कही है। हालांकि यूपी विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कुछ लोगों द्वारा वीडियो को गलत तरीके से प्रसारित करने की बात कही है। उन्होंने ट्वीट कर स्पष्ट किया कि सोशल मीडिया पर कुछ मित्र मेरे भाषण के एक वीडियो के अंश को अन्यथा अर्थों के संकेत के साथ प्रसारित कर रहे हैं। वास्तव में यह उन्नाव के प्रबुद्ध सम्मेलन में मेरे भाषण का अंश है। जिसमें संचालक ने मेरा परिचय देते हुए मुझे प्रबुद्ध लेखक बताया था। उन्होंने सफाई देते हुए आगे कहा, मैंने इसी बिंदु से बात आगे बढ़ाते हुए कहा था कि कुछ पुस्तकों और लेखों के लिखने से ही कोई प्रबुद्ध नहीं हो जाता। महात्मा गांधी कम कपड़े पहनते थे। देश में उन्हें बापू कहा। लेकिन इसका अर्थ यह नहीं राखी सावंत भी गांधी जी हो जाएंगी। इसका किसी ने वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल के बाद राजनीतिक गलियारों में तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गई हैं। 

यह दिया था बयान 

यूपी विधानसभा हृदय नारायण दीक्षित ने उन्नाव में आयोजित प्रबुद्ध सम्मेलन के दौरान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को लेकर कहा था कि गांधी जी कम कपड़े पहनते थे, धोती ओढ़ते थे, गांधी जी को देश ने बापू कहा, अगर कपड़े उतारने से कोई महान बन जाता तो राखी सावंत महान बन जाती। दीक्षित ने आगे कहा कि मैंने 6 हजार किताबें पढ़ी हैं। जिनका विश्लेषण भी किया है। उन्होंने महात्मा गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि वो कम कपड़े पहनते थे तो देश ने उन्हें बापू कहा, लेकिन ऐसा नहीं है कि कम कपड़े पहनने से कोई बौद्धिक हो जाता है। कम कपड़े पहनने या कपड़े उतारने से कोई बड़ा बनता तो आज राखी सावंत महात्मा गांधी से भी बड़ी होती। उन्होंने कहा कि प्रबुद्ध वर्ग पुरातन से समाज का आराध्य रहा है। लेकिन आराध्य राजनीति और वोट बैंक के साधन नहीं है। समाज सदैव उनकी पूजा अर्चना अर्थात सम्मान करता रहा है।

दिल्ली आप विधायक ने नवजोत सिंह सिद्धू को बताया था पंजाब के राखी सावंत 

आम आदमी पार्टी (आप) पंजाब के सह प्रभारी और दिल्ली से विधायक राघव चड्ढा ने शुक्रवार को नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब की राजनीति का राखी सावंत करार दिया था। चड्ढा ने अपने बयान में कहा था कि सिद्धू बेतुके बयान देने की बीमारी से पीड़ित हैं, इसलिए आदत से मजबूर होकर इस प्रकार की बयानबाजी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सिद्धू की कही कोई भी बात गंभीर नहीं होती तथा हर जगह वह हंसी की पात्र ही बनते हैं। चड्ढा ने था कहा कि पहले सिद्धू अपनी ही सरकार और सरकार के मुखिया कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ रोजाना बयानबाजी कर रहे थे, लेकिन आलाकमान की फटकार के बाद अब वह चुप हैं। अब उन्हें कुछ और नहीं सूझ रहा, इसलिए वह आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के खिलाफ फिजूल की बयानबाजी कर रहे हैं।

राघव चड्ढा के बयान पर राखी सावंत ने जताई थी नाराजगी 

राघव चड्ढा की इस बयानबाजी के बाद से राखी सावंत ने एक न्यूज चैनल पर नाराजगी भी जताई थी। राखी ने एक न्यूज चैनल से बात करते हुए बेहद सख्त अंदाज में कहा था, मिस्टर राघव चड्ढा- मुझसे और मेरे नाम से दूर रहो. जो मिस्टर चड्ढा, चड्ढा हो ना, मेरा नाम लोगे ना तो मैं तुम्हारा चड्ढा उतार दूंगी। राखी ने कहा कि राघव चड्ढा को ट्रेंडिंग में आने के लिए कैसे मेरे नाम की जरूरत पड़ गई। मैं अब भी ट्रेंडिंग में हूं।

संबंधित खबरें