ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशआईएसआईएस के स्लीपर सेल की तरह काम कर रहे एएमयू के छात्र, एटीएस ने तेज की तलाश

आईएसआईएस के स्लीपर सेल की तरह काम कर रहे एएमयू के छात्र, एटीएस ने तेज की तलाश

यूपी एटीएस को एएमयू के दो और छात्रों की तलाश है। कहा जा रहा है कि एएमयू के छात्र आईएसआईएस के स्लीपर मॉड्यूल की तरह काम कर रहे हैं। भारत में हमलों को अंजाम देने की साजिश रची जा रही है।

आईएसआईएस के स्लीपर सेल की तरह काम कर रहे एएमयू के छात्र, एटीएस ने तेज की तलाश
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,अलीगढ़Wed, 15 Nov 2023 06:16 AM
ऐप पर पढ़ें

भारत में आतंकी घटनाओं को अंजाम देने की प्लानिंग कर रहे आईएसआईएस के स्लीपिंग मॉड्यूल्स के तौर पर अलीगढ़ में एएमयू के कुछ पूर्व छात्रों के सक्रिय होने का खुलासा हो चुका है। यूपी एसटीएफ व एटीएस एएमयू से जुड़े दो और छात्रों की तलाश कर रही है। यह दोनों वीएम हॉल एएमयू के रहने वाले बताए गए हैं। इसके अलावा दिल्ली के बाटला हाउस व प्रयागराज के भी दो युवकों की एसटीएफ को तलाश है।

यूपी में आईएसआईएस के सक्रिय होने की शुरुआत का खुलासा महाराष्ट्र पुलिस द्वारा जून माह में दर्ज कराए गए एक मुकदमे से हुआ था। इस मुकदमे में नामजद शहनवाज व रिजवान को एसटीएफ ने गिरफ्तार किया था। इन दोनों से पूछताछ में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए थे। पूछताछ में यह बात सामने आई थी कि किस तरह से यूपी के अंदर प्रतिबंधित आतंकी संगठन पैंठ मजबूत कर रहा है। एसटीएफ ने कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए तीन नवंबर को लखनऊ में मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें 10 लोगों को नामजद किया गया था। इन नामजदों में से पुलिस अब छह आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं एसटीएफ को एएमयू के वीएम हॉल निवासी अब्दुल समद मलिक व फैजान बख्तियार की तलाश है।

एएमयू वीसी के लिए ंकार्यवाहक कुलपति की पत्नी शार्ट लिस्ट, चयन प्रक्रिया को हाईकोर्ट में चुनौती

एसटीएफ के मुताबिक इस्लामिक स्टेट ऑफ इराक एंड सीरिया (आईएसआईएस) के सदस्य भारत में हिंसक हमलों को अंजाम देने के लिए कमजोर युवाओं को तैयार कर रहे हैं। आईएसआईएस को सक्रिय समर्थन प्रदान करके आतंकवादी गतिविधियों में सहायता करने और बढ़ावा देने के इरादे से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से अपने सहयोगियों और अज्ञात अन्य लोगों के साथ आतंकी मॉड्यूल तैयार किए जा रहे हैं।इस साजिश का उद्देश्य आईएसआईएस की ओर से भारत में हिंसक आतंकी हमले करना और प्रतिबंधित संगठन के लिए काम करने के लिए युवाओं की भर्ती करना है।

आईएसआईएस मॉड्यूल
- दिल्ली के बाटला हाउस व प्रयागराज के भी दो युवकों के कनेक्शन हुए हैं उजागर
- एएमयू के वीएम हाल निवासी अब्दुल समद व फैजान अख्तियार की है तलाश
- झारखंड के लोहरदंगा व महाराजगंज से हुई गिरफ्तारी, तीन नवंबर को दर्ज हुआ था मुकदमा
- यूपी एटीएस द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर में 10 आरोपियों में से अब तक चार हैं फरार
- भारत में रहते हुए यह सभी आईएसआईएस के स्लीपिंग माड्यूल्स के रूप में कर रहे थे काम

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें