ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशएमडी ड्रग की गिरफ्त में आ रहे यूपी के इस शहर के रईसजादे, एक पुड़िया से होती ये जानलेवा बीमारी

एमडी ड्रग की गिरफ्त में आ रहे यूपी के इस शहर के रईसजादे, एक पुड़िया से होती ये जानलेवा बीमारी

यूपी के इस शहर में भी रेव पार्टी में ली जाने वाली एमडी ड्रग सप्लाई हो रही है। अब ताजनगरी के रईसजादे इसकी गिरफ्त में आ रहे हैं। इसकी पुड़िया सप्लाई हो रही है। डॉक्टरों ने कहा ये जानलेवा बीमारी करती है।

एमडी ड्रग की गिरफ्त में आ रहे यूपी के इस शहर के रईसजादे, एक पुड़िया से होती ये जानलेवा बीमारी
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,आगराMon, 11 Dec 2023 02:12 PM
ऐप पर पढ़ें

रेव पार्टियों में चलने वाले ड्रग्स एमडीएमए ने ताजनगरी आगरा में भी पैर पसार लिए हैं। ताजनगरी के रईसजादे इसकी गिरफ्त में आ रहे हैं। नशे की एक ग्राम की पुड़िया चार से सात हजार रुपये की मिल रही है। युवक ही नहीं युवतियों को भी इसकी लत लगती जा रही है। प्राइवेट पार्टियों में इसका इस्तेमाल होने लगा। नशा करने वाले इसे लाइन का नशा बोलते हैं। इसे खरीदने बाहर नहीं जाना पड़ता। आगरा में ही मिलने लगा है।

एमडीएमए (मिथाइलीन डाई आक्सी मेथामफेटामाइन) ताजनगरी में ही छोटी-छोटी पुडिया में मिलने लगा है। इसके शोकीन इसे लाइन बोलते हैं। एक ग्राम की पुड़िया चार से सात हजार रुपये की मिल रही है। कीमत अधिक है इसलिए सिर्फ रईसजादे ही इसकी गिरफ्त में आ रहे हैं। नशा करने वाले पुड़िया (प्लास्टिक पाउच) खोलते हैं। मोबाइल पर डेविट कार्ड की मदद से पतली लाइनें बनाते हैं। करारा नोट निकालते हैं। उससे रोल बनाते हैं। उसके जरिए नाक से लाइन को अंदर खींचते हैं। अभी तक ऐसे नजारे फिल्मों में देखने को मिलते थे। अब आम हो गए हैं। 

रात को लग्जरी गाड़ियों में युवाओं को ऐसा करते देखा जा सकता है। रईसजादे यह नशा कार में ही बैठकर कर लेते हैं। एक-दो नहीं बड़ी संख्या में रईसजादे इसकी गिरफ्त में हैं। युवतियों को भी इसकी लत लगती जा रही है। प्राइवेट पार्टियों में इसकी मांग बढ़ गई है। यह ड्रग्स लेने वाले एक युवक ने बताया कि नाक से ड्रग खींचते ही सीधे दिमाग पर असर होता है। सात से दस मिनट में ही शरीर में अजीब सी दम आ जाती है। पांच से छह घंटे तक असर रहता है। लेने के बाद नींद नहीं आती। ऐसा लगता है कि शरीर बहुत शक्तिशाली हो गया है। इस ड्रग के घातक परिणाम से फिलहाल युवा अनजान हैं।

यूपी के इस शहर में ATM से पैसे निकालने वाले सावधान, एक नहीं कई मशीन से छेड़छाड़, ऐसे रकम उड़ा रहे शातिर

आगरा कैंट के पास मिलती है पुड़िया
नशा करने वाले ने बताया कि ताजनगरी के रईसजादे फिलहाल तीन जगह से ड्रग्स ले रहे हैं। ज्यादा मात्रा चाहिए होती तो दिल्ली में पहाड़गंज जाते हैं। वहां जॉन नाम के युवक की सप्लाई है। उससे पहले व्हाट्स एप पर संपर्क होता है। वह अपने बताए स्थान पर बुलाता है। पहले कैश लेता है उसके बाद माल देता है। आगरा में आगरा कैंट के पास एक युवक इस नशे को बेच रहा है। वह सिर्फ उन्हीं को पुड़िया देता है जिन्हें पहले से जानता है। किसी नए ग्राहक पर भरोसा नहीं करता। नए ग्राहक को पुराने की गारंटी दिलानी होती है।

साइकोसिस का है खतरा
मनोचिकित्सक डॉक्टर सागर लवानिया ने बताया एमडीएमए पुराना ड्रग है। नशा करते ही यह सीधे दिमाग तक पहुंचता है। डोपामीन रिलीज होता है। जिससे नशा करने वाले को अच्छा लगता है। अधिक मात्रा में इसका सेवन जानलेवा भी हो सकता है। लंबे समय तक इसका सेवन करने वाले साइकोसिस हो सकते हैं।

एक ग्राम में 12 से अधिक लाइन
एक युवक ने बताया कि युवाओं को एमडी का नशा भाता है। वे इसे नाइट क्लब तक में ले जाते हैं। छोटी सी पुड़िया होती है। नशे को सीलन से बचाना होता है। एक ग्राम में 12 से 15 अधिक लाइन बन जाती हैं। एक ग्राम माल में दो युवक ले लेते हैं। जो लंबे समय से इसे ले रहे हैं वे एक बार में पूरा एक ग्राम माल नाक से खींच जाते हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें