ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशवेबसाइट हैक कर श्रमिकों से की ऑनलाइन ठगी, अयोध्या-आगरा सहित इन जनपदों के मजदूरों को ऐसे लूटा

वेबसाइट हैक कर श्रमिकों से की ऑनलाइन ठगी, अयोध्या-आगरा सहित इन जनपदों के मजदूरों को ऐसे लूटा

उप्र भवन निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की वेबसाइट हैकर्स ने हैक कर श्रमिकों से ऑनलाइन ठगी की। मोबाइल पर कॉल कर श्रमिकों को योजनाओं का लाभ दिलाने का झांसा दिया और रुपये ऑनलाइन जमा कराए।

वेबसाइट हैक कर श्रमिकों से की ऑनलाइन ठगी, अयोध्या-आगरा सहित इन जनपदों के मजदूरों को ऐसे लूटा
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,आगराThu, 30 Nov 2023 11:46 AM
ऐप पर पढ़ें

उप्र भवन निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की वेबसाइट को हैक कर श्रमिकों के साथ ऑनलाइन ठगी के जिले में पांच मामले प्रकाश में आए हैं। इस संबंध में श्रम विभाग द्वारा बोर्ड के पास जानकारी भेज दी गई है। आगरा, फिरोजाबाद और अयोध्या सहित प्रदेश के कई जिलों में भवन निर्माण श्रमिकों से कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के नाम पर ऑनलाइन ठगी के मामले सामने आने से शासन तक हड़कंप मच गया है।

कई जिलों में श्रमिकों के साथ कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के नाम पर ऑनलाइन ठगी की जा रही है। हैकर्स ने उत्तर प्रदेश भवन निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की वेबसाइट को हैक कर लिया है। उसके बाद अज्ञात व्यक्ति श्रमिकों के मोबाइल पर संपर्क कर लेता है। श्रमिकों से विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाने के नाम पर रुपयों की मांग की जा रही है। आगरा से पांच श्रमिक ऑनलाइन धनराशि भेज चुके हैं। वहीं, जो श्रमिक धनराशि देने मना कर देते हैं उनके आवेदन को निरस्त करने की धमकी दी जा रही है। ऐसे श्रमिकों के रजिस्ट्रेशन के परिवार विवरण में अभद्र भाषा लिख दी जा रही है। हैकरों द्वारा किसी से 3000 रुपये तो किसी से 5,000 रुपये की रकम ऑनलाइन जमा कराई गई है।

यूपी पुलिस ने 9 साल की किडनैप लड़की को 10 घंटे में छुड़ाया, एनकाउंटर में अपहर्ता को गोली लगी

एफआईआर के निर्देश
उत्तर प्रदेश भवन निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड की वेबसाइट में सेंधमारी होने पर बीओसी बोर्ड की सचिव निशा अनंत ने श्रम विभाग के मंडल एवं जिला स्तरीय अधिकारियों को शिकायत मिलने पर संबंधित मोबाइल नंबर धारक हैकरों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए हैं।

सहायक श्रम आयुक्त, राम आशीष ने कहा कि जनपद में पांच श्रमिकों से ठगी की शिकायतें प्राप्त हुईं हैं। इनके बारे में पूरा विवरण बोर्ड को भेज दिया गया है। एफआईआर बोर्ड द्वारा कराई जा रही है। श्रमिकों को चाहिए कि अवैध रूप से धनराशि की मांग करने वाले व्यक्ति के खिलाफ तत्काल पुलिस में शिकायत दर्ज कराएं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें