ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी: चाइनीज निमोनिया का खतरा नहीं, पर डॉक्टर अलर्ट, आप भी जान लें लक्षण और क्या है बीमारी

यूपी: चाइनीज निमोनिया का खतरा नहीं, पर डॉक्टर अलर्ट, आप भी जान लें लक्षण और क्या है बीमारी

चीन में फैली नई रहस्यमयी बीमारी का फिलहाल यूपी में कोई केस नहीं देखने को मिला है। आगरा शहर में भी इसका खतरा नहीं है। हालांकि डब्ल्यूएचओ ने सभी अस्पतालों को अलर्ट मोड पर रहने की सलाह दी है।

यूपी: चाइनीज निमोनिया का खतरा नहीं, पर डॉक्टर अलर्ट, आप भी जान लें लक्षण और क्या है बीमारी
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,आगराWed, 29 Nov 2023 07:08 AM
ऐप पर पढ़ें

चीन में फैली नई रहस्यमयी बीमारी पर विश्व स्वास्थ्य संगठन गंभीर है। बच्चों को तेज बुखार, फेंफड़ों में सूजन, सांस लेने में दिक्कत जैसी दिक्कतें सामने आई हैं। डब्ल्यूएचओ ने अस्पतालों को अलर्ट मोड पर रहने की सलाह दी है। फिलहाल आगरा में इसका कोई खतरा दिखाई नहीं दे रहा है। निमोनिया में बलगम वाली खांसी, तेज बुखार के साथ फेंफड़ों में सूजन आती है। जबकि चीन में फैले रोग में बलगम की शिकायत नहीं है। शेष लक्षण समान हैं। कई मामलों में यह जानलेवा साबित हो सकता है। 

मसलन फेंफड़ों में पानी भरने के बाद वह मवाद में बदल जाता है। पूरे फेंफड़ों में मवाद भरने के बाद मरीज को सांस लेने में दिक्कत होने लगती है। बच्चों और बुजुर्गों को यह बीमारी तेजी से जकड़ लेती है। सर्दी के सीजन में इसका खतरा ज्यादा रहता है। आगरा में इस तरह की गंभीर दिक्कत नहीं है। एसएनएमसी और जिला अस्पताल में सामान्य निमोनिया के बच्चे आ रहे हैं। बाल रोग विभाग में आने वाले 100 में करीब 15 बच्चे निमोनिया से पीड़ित हैं। हालांकि किसी में गंभीर लक्षण नहीं हैं।

सर्दी के साथ ही फेफड़ों और दिल की क्षमता घटी, 20 फीसदी मरीज बढ़े

डीएच का आक्सीजन प्लांट खराब
जिला अस्पताल में 500 लीटर प्रति मिनट आक्सीजन उत्पादित करने वाला आक्सीजन प्लांट महीनों से खराब पड़ा है। अब शासन से उसकी टेक्निकल रिपोर्ट की संस्तुति कर दी गई है। सबंधित कंपनी को प्लांट की मरम्मत करनी है। लेकिन अब बजट आड़े आ रहा है। जब तक मरम्मत के लिए शासन से बजट जारी नहीं होगा, कंपनी रिपेयर शुरू नहीं करेगी।

एसएन में सब ठीक निर्देशों का इंतजार
एसएन मेडिकल कालेज में सभी आक्सीजन प्लांट चल रहे हैं। सुपर विंग का नया एक हजार केएल का प्लांट भी चालू है। यहां डेंगू वार्ड पहले से बना हुआ है। जरूरत पड़ने पर इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। बच्चों के लिए बाल रोग विभाग में 100 बेड और अलग से एनआईसीयू की सुविधा उपलब्ध है। अलग से प्रबंध करने के निर्देश नहीं आए हैं।

मुख्य अधीक्षक जिला अस्पताल, डा. अनीता शर्मा ने कहा कि चाइनीज निमोनिया के लक्षण वाले बच्चे अभी तक नहीं आए हैं। शासन स्तर से भी कोई गाइडलाइन नहीं आई है। लेकिन हम अलर्ट हैं। वार्ड, डाक्टर, स्टाफ और दवाइयों का पर्याप्त प्रबंध है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें