ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशसामूहिक विवाह में शादी करने पहुंची दो दुल्हन का नहीं हुआ विवाह, इस कारण लौटाया वापस

सामूहिक विवाह में शादी करने पहुंची दो दुल्हन का नहीं हुआ विवाह, इस कारण लौटाया वापस

यूपी के आगरा में सामूहिक विवाह के कार्यक्रम में शादी करने पहुंचे दो जोड़ों को वापस लौटाया गया। दोनों दुल्हनें तैयार होकर परिवार संग पहुंची लेकिन उन्हें कार्यक्रम से इस कारण बेरंग वापस लौटना पड़ा।

सामूहिक विवाह में शादी करने पहुंची दो दुल्हन का नहीं हुआ विवाह, इस कारण लौटाया वापस
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,आगराFri, 01 Mar 2024 08:01 AM
ऐप पर पढ़ें

आगरा के खंदौली ब्लाक में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह में दो दुल्हनों को वापस लौटाने पर हंगामा हो गया। दूल्हा व दुल्हन पक्ष के लोगों ने विकास विभाग के अधिकारियों पर आरोप लगाए। सूची से नाम हटाने का आरोप लगाया। मार्च माह के प्रथम सप्ताह में पुनः मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह में दोनों जोड़ों की शादी कराने के आश्वासन पर मामला शांत हुआ। हालांकि दोनों दुल्हनों ने सीएम के जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत की है।

खंदौली ब्लॉक खंड परिसर में गुरुवार को दुल्हन शीलू पुत्री निहाल सिंह लोधी निवासी गांव पुरा लोधी मौजा धौरऊ विकास खंड खंदौली व रवीना पुत्री वीरी सिंह निवासी गांव सराय दयरूपा विकास खंड खंदौली भी पहुंची थीं। दोनों दुल्हनों की शादी सामूहिक विवाह समारोह में होनी थी। उन्हें आमंत्रित भी किया गया। लेकिन इनकी शादी नहीं हो सकी। इसकी जानकारी होने पर परिजनों ने हंगामा किया। ग्राम प्रधान धौरऊ पुष्पेंद्र सिंह ने बताया कि शीलू का नाम सूची में था। उसे शादी के लिए आमंत्रित किया गया था। दुल्हन सजधज कर समारोह में पहुंची थी। उसे लौटा दिया गया। 

शादी शून्य होने पर भी पत्नी कर सकती है घरेलू हिंसा का केस, हाईकोर्ट में पति की दलील खारिज

इधर दुल्हन रवीना के मामा सतेंद्र कुमार का कहना था कि जानबूझकर सूची से नाम हटाया गया है। पूरे परिवार का अपमान हुआ है। इसकी शिकायत दुल्हन रवीना ने सीएम के जनसुनवाई पोर्टल पर की है। ग्राम प्रधान दिनेश शाक्य ने बताया कि रवीना का नाम सामूहिक विवाह की सूची में था। उसे बाद में हटाया गया। इसकी कोई भी सूचना नहीं दी गई।

इधर खंदौली के एडीओ समाज कल्याण रामेंद्र सिंह ने बताया कि खंदौली ब्लॉक के 44 व एत्मादपुर के 17 जोड़ों की शादी कराई गई है। दो दुल्हन की शादी देरी से हुए सत्यापन के चलते नहीं हो पाई है। अब दोनों दुल्हनों के नाम अगली सूची में समायोजित कर मार्च के प्रथम सप्ताह होने वाले सामूहिक विवाह समारोह में कराए जाएंगे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें