ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपंचायत के सामने हाथ-पैर जोड़ नाराज पत्नी को लाया घर, 10 दिन बाद हत्या, बोला- गुटखा खाती थी इसलिए घोंटा गला

पंचायत के सामने हाथ-पैर जोड़ नाराज पत्नी को लाया घर, 10 दिन बाद हत्या, बोला- गुटखा खाती थी इसलिए घोंटा गला

आगरा में पति पहले पंचायत के सामने हाथ-पैर जोड़ नाराज पत्नी को घर लाया। 10 दिन बाद दोनों के बीच झगड़ा हुआ तो उसकी हत्या कर दी। पुलिस के सामने बोला कि वो गुटखा खाती थी इसलिए घोंटा गला।

पंचायत के सामने हाथ-पैर जोड़ नाराज पत्नी को लाया घर, 10 दिन बाद हत्या, बोला- गुटखा खाती थी इसलिए घोंटा गला
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,आगराSun, 12 Nov 2023 09:28 AM
ऐप पर पढ़ें

आगरा के इंदर एन्क्लेव (कमला नगर) में हुए चित्रा हत्याकांड के आरोपित उसके पति हेमंत को पुलिस ने शनिवार को जेल भेज दिया। पूछताछ में उसने हत्या की जो वजह बताई उसे सुनकर पुलिस हैरान रह गई। पति बोला कि पत्नी गुटखा खाती थी। उसे पसंद नहीं था। हालांकि पुलिस हत्या की वजह शक मान रही है। पति ने पूछताछ के दौरान यह भी बताया कि पत्नी घरों में काम करने जाती थी। मोबाइल पर बात किया करती थी। इस बात पर झगड़ा होता था।

एसीपी हरीपर्वत मयंक तिवारी ने बताया कि हेमंत पत्नी का शव कमरे में बंद करके फरार हो गया था। दुपट्टे से गला घोंटकर उसकी हत्या की थी। चित्रा की यह दूसरी शादी थी। पहले पति से तलाक हो गया था। हेमंत की भी यह दूसरी शादी थी। पहली पत्नी की मौत हो गई थी। इंस्पेक्टर कमला नगर आनंदवीर सिंह ने बताया कि आरोपित खुद शराब पीने का आदी है। पत्नी इसका विरेाध करती थी। पति काम धंधा भी नहीं करता। घर का खर्चा चित्रा ही उठाया करती थी। 

गला घोंट पत्नी की हत्या कर कंबल के नीचे छिपाया शव, 6 महीने पहले हुई थी शादी, पिता को फोन किया और फिर...

झगड़ा होने पर पति ने गुस्से में दुपट्टे से पत्नी का गला घोंट दिया था। उसकी मौत हो गई। पति घबरा गया। शव को कमरे में बंद करके फरार हो गया था। पति ने खुद ही घरवालों को फोन करके हत्या की जानकारी दी थी। पति हत्या की वजह गुटखा खाना बता रहा था। यह बात पुलिस के गले नहीं उतर रही है। हत्यारोपी से कई सवाल पूछे गए। उसकी बातचीत से यह बात सामने आई कि वह पत्नी पर शक भी करता था।

समझौता करके घर वापस लाया था
चित्रा ने आए दिन की चिकचिक से परेशान होकर पति का घर छोड़ दिया था। वह मायके में रहने लगी थी। पति 10 दिन पहले ही पंचायत में हाथ-पैर जोड़कर पत्नी को वापस घर लेकर आया था। इसके बाद भी दोनों के बीच झगड़े बंद नहीं हुए।