ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशअपहरण कर युवक की हत्या करने वाले पकड़े, नहीं मिल रहा शव, पुलिस को ऐसे कर रहे कंफ्यूज

अपहरण कर युवक की हत्या करने वाले पकड़े, नहीं मिल रहा शव, पुलिस को ऐसे कर रहे कंफ्यूज

आगरा में लापता सुशील चाहर की हत्या हो गई है। पुलिस ने शक के आधार पर राहुल जोशी सहित दो युवकों को पकड़ा है। वे हत्या की बात कबूल कर रहे हैं, लेकिन शव बरामद नहीं करा रहे। हर बार अलग बात कह रहे।

अपहरण कर युवक की हत्या करने वाले पकड़े, नहीं मिल रहा शव, पुलिस को ऐसे कर रहे कंफ्यूज
murder
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,आगराFri, 07 Jun 2024 08:45 AM
ऐप पर पढ़ें

आगरा में मलपुरा के गांव नगला हट्टी (बरारा) से दो जून को लापता सुशील चाहर की हत्या हो गई है। पुलिस ने शक के आधार पर राहुल जोशी सहित दो युवकों को पकड़ा है। वे हत्या की बात कबूल कर रहे हैं, लेकिन शव बरामद नहीं करा रहे। कभी कहते हैं कि शव चंबल में फेंका था। कभी कहते हैं कि शव का अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। डीसीपी पश्चिम का कहना है कि शव बरामदगी के प्रयास जारी हैं। शव मिलने के बाद ही यह साबित होगा कि हत्या हुई है। हालांकि हत्या की वजह मुखबिरी का शक बताई जा रही है।

गांव नगला हट्टी निवासी गुलाब सिंह चाहर ठेकेदार हैं। भवन निर्माण के ठेके लते हैं। तीन बेटे हैं। सिकंदर सुशील और सचिन । 24 वर्षीय सुशील दो जून से लापता है। परिजनों ने पुलिस को बताया कि बेटे के मोबाइल पर फोन आया था। उसी के बाद वह घर से निकला था। उसका मोबाइल बंद आ रहा है। मंगलवार को सुशील की मां भूरी देवी ने मलपुरा थाने में अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। इसमें राहुल जोशी और दो अज्ञात युवकों को आरोपित बनाया था। मुकदमे के बाद मलपुरा पुलिस ने छानबीन शुरू की।

ये भी पढ़ें: बिकरू कांड में आरोपी मनु पांडे के घर पर कुर्की की कार्रवाई, चेकिंग के बाद लगाया सरकारी ताला

मादक पदार्थ की तस्करी में जेल जा चुका है राहुल
सुशील चाहर हत्याकांड में राहुल जोशी की कुंडली खंगालते ही पुलिस के होश उड़ गए। राहुल मादक पदार्थ की तस्करी में दो साल पहले जेल गया था। सुशील को भी उसी ने फोन कर बुलाया था। बुधवार की शाम पुलिस ने राहुल जोशी और एक महिला को हिरासत में लिया। राहुल ने पूछताछ में पुलिस से कहा कि सुशील को मार डाला। उसे शक था कि वह उसकी पुलिस से मुखबिरी करता है। पुलिस ने उससे पूछा कि सुशील चाहर का शव कहां है। 

पहले उसने बताया कि शव को चंबल में फेंक दिया। पुलिस ने चंबल में शव की तलाश कराई, लेकिन नहीं मिला। उससे दोबारा पूछताछ हुई। उसने कहा कि शव का अंतिम संस्कार कर दिया। जिस जगह अंतिम संस्कार की बात बताई वहां पता चला कि सुशील चाहर नाम से कोई शव नहीं आया था। डीसीपी पश्चिम सोनम कुमार ने बताया कि शव की बरामदगी जरूरी है। तभी यह साबित होगा कि हत्या हो चुकी है। आरोपित गुमराह कर रहा है। 

गांजा पकड़ा गया था 
सुशील चाहर के परिजनों ने पुलिस को बताया कि पिछले दिनों कानपुर में कहीं गांजा पकड़ा गया था। आरोपित राहुल जोशी गांजे की तस्करी में लिप्त रहता है। 

डीवीआर से डिलीट मिली रिकार्डिंग
पुलिस ने बताया कि आरोपित राहुल जोशी के घर सीसीटीवी लगा है। दो जून की रिकार्डिंग नहीं मिली। आरोपित ने डीवीआर से रिकार्डिंग डिलीट कर दी है।

सर्विलांस टीम की मदद
पुलिस का मानना है कि आरोपित राहुल जोशी बेहद शातिर है। उसे पता है कि हत्या साबित करने के लिए शव का होना जरूरी है। शव नहीं मिलेगा तो पुलिस हत्या साबित नहीं कर पाएगी। पुलिस को शव तो दूर की बात लापता सुशील चाहर का कोई सामान तक नहीं मिला है। पुलिस सर्विलास टीम की मदद ले रही है।