ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशछठ पूजा से पहले कैंजरा में चंबल के टीले पर बैठा दिखा तेंदुआ, घाट पर मची अफरातफरी

छठ पूजा से पहले कैंजरा में चंबल के टीले पर बैठा दिखा तेंदुआ, घाट पर मची अफरातफरी

आगरा के कैंजरा में चंबल के टीले पर तेंदुआ बैठा दिखा। छठ पूजा के लिए जमा लोगों में घाट पर अफरातफरी मच गई। दो दिन से तेंदुए को पकड़ने की कोशिश की जा रही है। ड्रोन से निगरानी भी की गई है।

छठ पूजा से पहले कैंजरा में चंबल के टीले पर बैठा दिखा तेंदुआ, घाट पर मची अफरातफरी
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,आगराSat, 18 Nov 2023 09:09 AM
ऐप पर पढ़ें

शुक्रवार को बाह के कैंजरा घाट के टीले पर तेंदुआ दिखने से अफरा तफरी मच गई। घाट पर मौजूद यात्री और चरवाहे भाग खड़े हुए। छठ पूजा के लिए घाटों पर लोग जमा हो रहे थे। इलाके में दहशत फैल गई है। वन विभाग ने ड्रोन कैमरे से तेंदुए की निगरानी कराई है। शुक्रवार सुबह 10 बजे के करीब कैंजरा घाट पर यात्री पहुंचे तो उन्हें टीले पर तेंदुआ बैठा दिखा। ये देख वे वहां से भाग खड़े हुए। चरवाहों की नजर पड़ी तो वे भी अपने पशु हांककर गांव लौट आए। सूचना पर पहुंची वन विभाग की टीम ने ड्रोन कैमरे से टीले पर बैठे तेंदुए की निगरानी कराई। 

बाह के रेंजर उदय प्रताप सिंह ने बताया कि दो शावकों संग नर-मादा के विचरण पर निगाह रखी जा रही है। ग्रामीणों को सतर्क एवं जागरुक किया है। रात में बीहड़ क्षेत्र में न जाने की हिदायत दी है। वही इस मामले में रेंजर बाह उदय प्रताप सिंह का कहना है कि ग्रामीणों द्वारा सूचना दी गई थी। सूचना पर वन टीम मौके पर पहुंची थी। तब तक तेंदुआ निकल गया था।और जंगल तेंदुओं का घर है। वह वहां पर विचरण करने व जंगल में धूप सेंकने के लिए अक्सर निकलते रहते है। गांव के लोग रात भर जाग कर घरों की रखवाली कर रहे हैं।

डेंगू, चिकनगुनिया की रोकथाम की सरकारी कोशिशों से हाईकोर्ट नाखुश, दिए ये निर्देश

दो दिन बीत जाने के बाद नहीं मिला तेंदुआ
सैंया क्षेत्र में आठ साल के बच्चे को घायल करने वाले तेंदुए का अभी वन विभाग पता नहीं लगा सका है। घायल बच्चे का उपचार प्राइवेट अस्पताल में चल रहा है। उसके 75 टांके आए हैं। बुधवार रात्रि करीब 12 बजे थाना सैंया अंतर्गत बिरहरू गांव में घर में सो रहे डेविड (08) पुत्र भूरी सिंह पर तेंदुए ने हमला कर दिया था। डेविड गम्भीर रूप से घायल हो गया था। घायल डेविड का निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है परिजनों ने बताया कि डेविड के 75 टांके आए हैं। इधर ग्राम प्रधान बिरहरू भूरी सिंह परमार ने बताया कि घटना के बाद से समूचे क्षेत्र में दहशत का माहौल है।

सैंया सर्किल के सभी थानों में अलर्ट
सहायक पुलिस आयुक्त सैंया पीयूषकांत राय ने बताया कि घटना की जानकारी वन विभाग को दे दी गयी थी। वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और पड़ताल की। परन्तु दो दिन बीत जाने के बाद भी तेंदुए के बारे में कोई जानकारी नहीं हो सकी है। सर्किल के सभी थाना प्रभारियों को जनता को जागरूक करने के लिए निर्देश दे दिए गए हैं। इधर वन विभाग की रेंजर आयशा नसीम ने बताया कि बच्चे के घायल होने की सूचना पर वन दरो़गा मुकेश कुमार के साथ मौके पर पहुंचकर जानवर के फुट प्रिंट लिए थे। जांच के बाद वैज्ञानिकों ने फारेस्ट कैट की रिपोर्ट भेजी है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें