ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशनहीं होगी मच्छरों की दहशत, यूपी के इन 15 जिले इस साल होंगे मलेरिया मुक्त

नहीं होगी मच्छरों की दहशत, यूपी के इन 15 जिले इस साल होंगे मलेरिया मुक्त

मच्छर जनित बीमारियों का प्रकोप बढ़ने से पहले ही इसे रोका जाने का काम शुरू हो गया है। मच्छर जनित बीमारियों में एक है मलेरिया। इस सल यूपी के 15 जनपद मलेरिया से मुक्त कर लिए जाएंगे।

नहीं होगी मच्छरों की दहशत, यूपी के इन 15 जिले इस साल होंगे मलेरिया मुक्त
Srishti Kunjहिन्दुस्तान टीम,अलीगढ़Tue, 18 Jun 2024 12:17 PM
ऐप पर पढ़ें

मानसून का आगमन होते ही मच्छर जनित बीमारियों का प्रकोप बढ़ने लगता है। मच्छर जनित बीमारियों में एक है मलेरिया। जिसे प्रदेश से पूरी तरह खत्म करने का लक्ष्य रखा गया है। पहले चरण में प्रदेश के 15 जनपद इस वर्ष मलेरिया से मुक्त कर लिए जाएंगे। यह वह जनपद हैं जहां सबसे कम मलेरिया के मरीज गत वर्षों में पाए गए हैं।

स्वास्थ्य निदेशालय द्वारा मलेरिया उन्मूलन के लिए अभियान लगातार चलाया जा रहा है। जिस प्रकार क्षय रोग उन्मूलन के लिए 2030 तक लक्ष्य रखा गया है। उसी प्रकार उत्तर प्रदेश में मलेरिया उन्मूलन के लिए 2030 लक्ष्य रखा गया है। सबसे अच्छी बात यह है कि इस वर्ष 2024 में ही प्रदेश के 15 जनपद मलेरिया मुक्त हो जाएंगे। इन जनपदों में अमेठी, चंदौली, रायबरेली, सहारनपुर, चित्रकुट, मथुरा, महोबा, गाजीपुर, मैनपुरी, देवरिया, आजमगढ़, बस्ती, देवरिया, जालौन, अंबेडकर नगर, ललितपुर को शामिल किया गया है। लय प्राप्ति के लिए सघन अंतर्विभागीय गतिविधि को संचालित करने का निर्देश दिया गया है। 

ये भी पढ़ें: यूपी में प्रचंड गर्मी के बीच मॉनसून को लेकर आई ये खबर, इस दिन होगी एंट्री; झमाझम बारिश

पंचायती राज विभाग को मच्छरों का घनत्व कम करने का लक्ष्य, सभी क्षेत्रों में सघन प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए गए हैं। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. राहुल कुलश्रेष्ठ ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा मलेरिया उन्मूलन के लिए 2030 का लक्ष्य रखा गया है। गत वर्षों में सबसे कम मरीज पाए जाने वाले जनपदों को इस वर्ष मलेरिया मुक्त करने का लक्ष्य दिया गया है। जिसके लिए विभाग को दायित्व के साथ सख्त निर्देश भी दिए गए हैं।

यूपी के कई जिले पहले ही मलेरिया मुक्त कर दिए गए हैं। अन्य जिलों में भी इस साल अभियान चलाकर मच्छरों के आतंक को खत्म किया जाएगा। मलेरिया को लेकर लोगों को जागरुक भी किया जा रहा है। साथ ही मच्छरों को भी कम करने की कवायद जारी है। बारिश के मौसम में मच्छरों का आतंक कम करने के लिए अभी से काम जारी है।