DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  उन्नाव : पथराव से बचने के लिए पुलिसकर्मियों ने लिया टोकरी और स्टूल का सहारा, लापरवाही के आरोप में चार सस्पेंड
उत्तर प्रदेश

उन्नाव : पथराव से बचने के लिए पुलिसकर्मियों ने लिया टोकरी और स्टूल का सहारा, लापरवाही के आरोप में चार सस्पेंड

हिन्दुस्तान टीम , उन्नावPublished By: Shivendra Singh
Thu, 17 Jun 2021 04:33 PM
उन्नाव : पथराव से बचने के लिए पुलिसकर्मियों ने लिया टोकरी और स्टूल का सहारा, लापरवाही के आरोप में चार सस्पेंड

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में सड़क हादसे में दो युवकों की मौत के बाद परिजनों को मुआवजा दिए जाने की मांग को लेकर उन्नाव-कानपुर मार्ग पर प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। इस हमले में 12 पुलिसकर्मी घायल हो गए। ग्रामीणों के पथराव से बचने के लिए कुछ पुलिसकर्मियों ने लिया टोकरी और स्टूल का सहरा लिया। 

बुधवार को घटी इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर पुलिसकर्मियों की फोटो वायरल हो रही है। एक पुलिसकर्मियों ने पथराव से बचने के लिए अपने सिर पर प्लास्टिक का स्टूल रखा है जबकि दूसरे पुलिसकर्मी ने टोकरी हाथ में ले रखी है। यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी पुलिसकर्मियों की वायरल फोटो को ट्विटर पर शेयर किया है।

वहीं, इस पथराव और लाठीचार्ज मामले में चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया है। पुलिस महानिरीक्षक (लखनऊ) ने ट्वीट कर जानकारी दी कि दायित्व में लापरवाही बरतने के आरोप में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली सदर दिनेश मिश्रा, चौकी प्रभारी मगरवारा और दो अन्य आरक्षियों को निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही पुलिस क्षेत्राधिकारी (नगर) से स्पष्टीकरण मांगा गया है। पूरे प्रकरण की जांच अपर पुलिस अधीक्षक (रायबरेली) को दी गई है।

250 लोगों के खिलाफ केज दर्ज, 43 अरेस्ट
पुलिस पर पथराव मामले में  43 लोगों को गिरफ्तार किया गया है जबकि 100 नामजद तथा 250 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि मंगलवार को उन्नाव में एक तेज रफ्तार कार ने बाइक को टक्कर मार दी थी। इस हादसे में राजेश (32) और विपिन (25) की मौत हो गई थी। पुलिस अधीक्षक आंनद कुलकर्णी ने गुरुवार को बताया कि मंगलवार रात पोस्टमॉर्टम के बाद दोनों युवकों के शव परिजनों को सौंप दिए गए थे। बुधवार को, परिजनों ने सड़क पर शव रखकर ग्रामीणों की मदद से बुधवार सड़क जाम कर दी। प्रदर्शन कर रहे लोग परिजनों को मुआवजा देने और हादसे के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे।

संबंधित खबरें