ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशउन्नाव : सांड ने महिला को पटककर मार डाला, भीड़ ने सांड को उतारा मौत के घाट

उन्नाव : सांड ने महिला को पटककर मार डाला, भीड़ ने सांड को उतारा मौत के घाट

उत्तर प्रदेश में उन्नाव के सिंघूपुर गांव में सांड ने महिला को पटक कर मौत के घाट उतार दिया। गुस्साए ग्रामीणों ने घेरकर सांड की लाठी और भाले से पिटाई कर दी। जिससे सांड की भी मौत हो गई।...

उन्नाव : सांड ने महिला को पटककर मार डाला, भीड़ ने सांड को उतारा मौत के घाट
Shivendra Singh वरिष्ठ संवाददाता, उन्नावWed, 17 Feb 2021 12:39 PM
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश में उन्नाव के सिंघूपुर गांव में सांड ने महिला को पटक कर मौत के घाट उतार दिया। गुस्साए ग्रामीणों ने घेरकर सांड की लाठी और भाले से पिटाई कर दी। जिससे सांड की भी मौत हो गई। ग्रामीणों ने गांव में स्थित प्राथमिक स्कूल में आवारा घूम रहे मवेशियों को भरकर हंगामा शुरू कर दिया। वह प्रशासन से मांग कर रहे हैं कि अन्ना जानवरों के लिए कोई व्यवस्था की जाए। अन्ना जानवर अब जानलेवा बन रहे हैं। एएसपी और एसडीएम सदर ग्रामीणों को मनाने में लगे थे। सदर विधायक पंकज गुप्ता भी मौके पर पहुंचे। डीएम रविंद्र कुमार ने 5 लाख आर्थिक मदद का आश्वासन दिया है।

गांव के रहने वाले स्वर्गीय तेजपाल की पत्नी गुड्डी भोर में शौच के लिए घर से बाहर ही निकली थी कि वहां से गुजर रहे सांड ने हमला बोल दिया। गंभीर रूप से जख्मी होने कि वजह से गुड्डी ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया। उसके बाद वहां मौजूद एक दूसरा साल हमला करने वाले सांड से लड़ गया। इतने में ग्रामीण लाठी भाला धारदार हथियार लेकर वहां इकट्ठा हो गए। महिला पर हमला करने वाले सांड को घेर लिया और पिटाई शुरू कर दी। ग्रामीणों ने पीट-पीटकर सांड को मार डाला। मामले की जानकारी होने पर पुलिस मौके पर पहुंची तो ग्रामीणों ने आक्रोश जताया। 

वह गांव में घूम रहे अन्य अन्ना मवेशियों को पीटते हुए स्कूल ले आए और बाउंड्री के अंदर बंद कर दिया। मामले की जानकारी होते ही एसडीएम सदर अंकित शुक्ला मौके पर पहुंचे। उन्होंने भीड़ को समझाने की कोशिश की लेकिन भीड़ इस मांग पर अड़ी थी कि अन्ना मवेशी फसल तो नुकसान करते ही थे अब वह जान भी लेने लगे हैं। उन्होंने प्रशासन से मांग की है कि गांव में घूम रहे अन्ना मवेशियों को कहीं बंद किया जाए उन्हें खुला ना छोड़ा जाए। डीएम रविंद्र कुमार ने बताया कि मृतक महिला को मुआवजा दिया जाएगा। यह भी प्रबंध किया जा रहा है कि अन्ना मवेशी खुलेआम न घूमें। खबर लिखे जाने तक अभी ग्रामीण अपनी मांग पर अड़े थे।

ग्रामीणों ने स्कूल में भरे मवेशी, शिक्षकों को रोका
गांव में स्थित कमपोजिट स्कूल के शिक्षक समय पर विद्यालय पहुंचे तो अंदर अन्ना मवेशी भरे थे। इस स्कूल में 10 शिक्षक तैनात हैं।सहायक शिक्षिका प्रज्ञा शुक्ला ने बताया कि वह विद्यालय पहुंची तो अंदर मवेशी भरे थे। ग्रामीण काफी गुस्से में थे।

घर में अकेली थी महिला
गुड्डी के पति की मौत पहले ही हो गई थी। एक बेटी कौशल्या है जिसकी शादी हो चुकी है। गुड्डी बेटी और दामाद के साथ घर में रहती थी। मौत के बाद घर में कोहराम मच गया।

हरकत में प्रशासन, तीन वाहनों से गौशाला भेजे जा रहे मवेशी
प्रशासन ने मौके की नजाकत देखते हुए ग्रामीणों को शांत कराने के लिए तत्काल तीन कैटल वाहनों को मंगाकर मवेशियों को उसमें भरवाना चालू कर दिया है।गांव में जो अन्ना मवेशी हैं उन्हें वाहनों में भरकर अलग-अलग गौशालाओं में ले जाया जा रहा है।

epaper