अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डॉन अबू सलेम की पुलिस से गुहार, आजमगढ़ में मेरी जमीन को अवैध कब्जे से बचाए सरकार

abu salem

अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम कीपुस्तैनी जमीन पर कुछ लोगों ने अवैध कब्जा कर लिया है। यह आरोप खुद सरायमीर के मूल निवासी अबू सलेम ने लगाया है। मुम्बई के तालोजा सेंट्रल जेल में बंद अबू सलेम ने इस संबंध में एक पत्र सीएम, डीएम एसपी व थानाध्यक्ष सरायमीर को रजिस्टर्ड डाक से भेजा है। 

पत्र में इस कब्जे का आरोप लगाते हुए अबू सलेम ने अवैध निर्माण को बंद कराने व कब्जा वापस दिलाने की मांग की है। जिले के सरायमीर थाने क्षेत्र के साकिन मोहल्ला पठानटोला के मूल निवासी अबू सलेम अंसारी पुत्र स्व अब्दुल कयूम अंसारी  ने सात मार्च को तलोजा सेंट्रल जेल खारघर नवी मुंबई से रजिस्टर्ड डाक से एक पत्र भेजा है। इस पत्र में अबू सलेम ने आरोप लगाया है कि उसके पुस्तैनी गांव की आराजी संख्या 738 /02 160 हेक्टेअर जमीन पर अवैध रूप से कुछ लोगों ने कब्जा कर मकान का निर्माण कर रहे हैं। 

जानें कैसे एक हीरोइन से गैंगस्टर की गर्लफ्रेंड बनी मोनिका बेदी

सलेम का कहना है कि उसके परिवार वालों ने तीस मार्च 2013 को खतौनी निकलवाई तो उसमें सभी भाईयों का नाम दर्ज था। लेकिन 6 नवंबर 2017 को निकाली गई नकल में अबू की पुस्तैनी आराजी पर कुछ लोगों मोहम्मद नफीस, मोहम्मद शौकत, सरवरी, मोहिउद्दीन ,एखलाख खां, एहसान व नदीम अख्तर का नाम दर्ज हो गया है। उसका कहना है कि सन 2002 से वह पुर्तगाल से गिरफ्तार हुआ, हिन्दुस्तान में प्रत्यर्पण के बाद से  लगातार जेल में ही है। और तब से परिवार के किसी सदस्य ने इस आराजी का बैनामा आदि नहीं किया है तो अन्य किसी का नाम कैसे दर्ज हो गया। 

जानें कैसे आजमगढ़ के वकील का बेटा सलेम बन गया मुंबई का गैंगस्टर

सलेम ने आरोप लगाया है कि नई नकल में दर्ज नाम के लोगों ने फर्जी तरीके से आराजी को हड़पने की नीयत से तहसील के कुछ कर्मियों की मिलीभगत से जमीन अपने नाम दर्ज कराली है। अबू ने पत्र के माध्यम से इस मामले पर मुकदमा दर्ज कर अवैध निर्माण को रोकते हुए अविलंबर कार्रवाई की मांग की है। साथ ही फर्जी इंद्राज को दुरुस्त करवाके आरोपी लोगों के विरुद्ध उचित कार्रवाई करने की भी गुहार लगाई है।

जेल से अबू सलेम की ओर से ये पत्र संबंधित अफसरों के पास भेजा गया है। मेरे पास इस संबंध में उनकी ओर से पत्र के साथ वकालत नामा भी आ चुका है। अब यदि प्रशासन की ओर से मुकदमा दर्ज नहीं किया जाएगा तो कोर्ट के माध्यम से मुकदमा दर्ज करवाने की कवायद शुरू की जाएगी।
राजेश सिंह परासर, वकील अबू सलेम। 

1993 मुंबई ब्लास्टः 13 साल बाद जेल से रिहा हो जाएगा अबू सलेम! जानें क्या है वजह

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Underworld Don Abu Salem Writes to UP Police Seeks Protection of Ancestral Land in Azamgarh