ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशचाचा शिवपाल को भतीजे पर आया कुछ ज्यादा ही प्यार,बोले- अखिलेश को कहें छोटे नेताजी

चाचा शिवपाल को भतीजे पर आया कुछ ज्यादा ही प्यार,बोले- अखिलेश को कहें छोटे नेताजी

चाचा शिवपाल को भतीजे अखिलेश पर कुछ ज्यादा ही प्यार आ रहा है। बुधवार को उन्होंने कहा कि मेरी ख्वाहिश है कि अखिलेश को छोटे नेताजी कहा जाए। शिवपाल इटावा में डिंपल के लिए जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

चाचा शिवपाल को भतीजे पर आया कुछ ज्यादा ही प्यार,बोले- अखिलेश को कहें छोटे नेताजी
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,ऊसराहार(इटावा)Wed, 30 Nov 2022 05:50 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

मुलायम सिंह यादव के निधन से रिक्त हुई मैनपुरी लोकसभा सीट पर उपचुनाव ने चाचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश को बेहद करीब ला दिया है। चाचा शिवपाल को भतीजे अखिलेश पर कुछ ज्यादा ही प्यार आ रहा है। बुधवार को उन्होंने कहा कि मेरी ख्वाहिश है कि अखिलेश को छोटे नेताजी कहा जाए। शिवपाल इटावा में डिंपल के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। 

लंबे समय बाद चाचा भतीजे की जोड़ी ने बुधवार को जसवंतनगर विधानसभा के भरतिया कोठी में एक जनसभा के दौरान मंच साझा किया तो कार्यकर्ताओं ने उनका तालियों की गड़गड़ाहट से स्वागत किया। ये पहला मौका है जब  दोनों नेताओं ने यहां पर एक साथ मंच साझा किया। कार्यकर्ताओं ने अखिलेश व शिवपाल सिंह को बड़ी गदा भेंट की। गदा लेकर दोनों नेताओं ने हाथों में उठाई तो लोग और भी उत्साहित होकर नारेबाजी करने लगे। 

वहीं अखिलेश यादव ने सीएम योगी पर निशाना साधा। अखिलेश ने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री पेंडुलम पर कोई ज्ञान दे रहे थे उनका भाषण सुनो तो ऐसा लग रहा था कि वह फिजिक्स के स्टूडेंट हों, पेंडुलम से अच्छा तो झूला है। हमारे चाचा जानते हैं कि कब किसको झूला झुलाना है। हमारे मुख्यमंत्री फुटबाल कभी नही खेले अगर मुख्यमंत्री चाहें तो अपनी टीम ले आएं हम समाजवादी लोग फुटबाल खेलने को तैयार हैं। 

कहा कि यह चुनाव बहुत विशेष परिस्थितियों में होने जा रहा है। आप लोगों ने उन्हें संघर्ष के समय आगे बढ़ाने का काम किया है। यहां वो लोग है जिन्होंने नेता जी को चंदा देकर मदद की है। आज नेता जी हमारे बीच नही हैं, आप सब लोग नेता जी के नाम पर वोट डालने का काम करें। आज शहीदों को जो सम्मान मिल रहा है वह नेता जी की वजह से मिल रहा है। नेता जी ने रक्षा मंत्री बनने के बाद शहीदों के शव को सम्मान समेत घर तक पहुंचाने का काम किया।

अखिलेश ने कहा कि नेता जी सियाचिन के बॉर्डर पर जब पहली बार गए तो सेना के अधिकारियों ने कहा कि वहां पर बहुत कम तापमान है। नेता जी पहले रक्षा मंत्री थे जो सियाचिन में धोती कुर्ता में सेना के जवानों से मिलने पहुंच गए थे। नेता जी रूस में भी धोती कुर्ता में चले गए थे। रूस के राष्ट्रपति ने उनका सम्मान किया था। तब जाकर देश को सुखोई विमान मिला। 

भाजपा के लोग झूठे हैं। चुनाव के समय गरीबों को चना दे रहे थे, रिफाइंड दे रहे थे। गरीबों को दिया जाने वाला रिफाइंड सबसे खराब तेल था। आज नमक, चना, तेल सब बंद हो गया है। अब सुन रहे हैं कि गेहूं भी बंद हो गया है। यह लोग सर्दियों में चावल खिला रहे हैं।

मैं नहीं क्षेत्र की जनता लड़ रही चुनावः डिंपल

मैनपुरी के उपचुनाव में नेता जी हम सब के बीच नहीं हैं। सारे बुजुर्गो ने नेता जी का साथ दिया है। उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चले हैं। नेता जी का व्यक्तित्व बहुत शानदार था। वह सभी को साथ लेकर चलने वाले इंसान थे। वह सभी का सम्मान करते थे। हम भी उनके जैसे ही आप के बीच रहना चाहते हैं। डिंपल ने कहा कि पांच तारीख को हम सभी लोग नेता जी को सच्ची श्रद्धांजलि देने का काम सपा को वोट देकर करें। 

कहा कि आपके खिलाफ यह चुनाव सरकार लड़ रही है। इस क्षेत्र की जनता यह चुनाव लड़ रही है। नेता जी ने किसानों, महिलाओं, बेटियो को आगे बढ़ाने का काम किया है। बेरोजगार युवाओं को रोजगार देकर आगे बढ़ाने का काम किया है। सभा का संचालन पूर्व राज्य मंत्री अशोक यादव ने किया मौके पर ताखा ब्लाक प्रमुख पति चीनी यादव, पीएफ चेयरमैन  आदित्य यादव, दिबियापुर विधायक प्रदीप यादव व बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।