DA Image
11 अप्रैल, 2021|1:10|IST

अगली स्टोरी

अयोध्या में भाषण देने के लिए हिंदी की ट्यूशन ले रहे हैं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे

Uddhav Thackeray

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के पूर्व निर्धारित 25 नवम्बर को अयोध्या आगमन कार्यक्रम के बाद विहिप की ओर से धर्मसभा के ऐलान से उपजी कडुवाहट अब दूर हो गयी है। शिवसेना प्रवक्ता व राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने एक दिन पूर्व विहिप के मुख्यालय कारसेवकपुरम जाकर विहिप के अन्तरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय से भेंट कर संगठन की दुविधा का इजहार किया। वहीं श्री राय ने भी सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी से उपजी विषम परिस्थिति को लेकर संगठन की सफाई पेश की। आपसी मलाल दूर होने के बाद श्री राउत ने उन्हें व श्री ठाकरे के आशीर्वाद समारोह में आने का आमंत्रण दिया, जिसे उन्होंने स्वीकार भी किया। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के पूर्व निर्धारित 25 नवम्बर को अयोध्या आगमन कार्यक्रम के बाद विहिप की ओर से धर्मसभा के ऐलान से उपजी कडुवाहट अब दूर हो गयी है।

शिवसेना प्रवक्ता व राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने एक दिन पूर्व विहिप के मुख्यालय कारसेवकपुरम जाकर विहिप के अन्तरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय से भेंट कर संगठन की दुविधा का इजहार किया। वहीं श्री राय ने भी सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी से उपजी विषम परिस्थिति को लेकर संगठन की सफाई पेश की। आपसी मलाल दूर होने के बाद श्री राउत ने उन्हें व श्री ठाकरे के आशीर्वाद समारोह में आने का आमंत्रण दिया, जिसे उन्होंने स्वीकार भी किया। उधर, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अयोध्या में करीब 1 घंटा हिंदी में भाषण देने वाले हैं। इसके लिए वह विशेषज्ञों से हिंदी की ट्यूशन ले रहे हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि वे अपने भाषण को प्रभावी बनाने के लिए हिंदी के धारदार शब्दों का इस्तेमाल करना चाहते हैं।  

अवतार सिंह भड़ाना बोले- इस बार लडूंगा लोकसभा चुनाव, सीट अभी तय नहीं 

मंगलवार को लक्ष्मणकिला में आयोजित पत्रकार वार्ता में शिवसेना नेता व राज्यसभा सदस्य श्री राउत ने कहा कि कारसेवकपुरम में भाजपा सांसद लल्लू सिंह, विधायक वेद प्रकाश गुप्त एवं महापौर ऋषिकेश उपाध्याय भी मिले थे। उन्हें भी श्री ठाकरे के कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया है और वह सभी आने को राजी हैं। श्री राउत ने कहा कि विहिप से हमारी कोई स्पर्धा नहीं है और हमारा मकसद भी एक है कि केन्द्र सरकार संसद में कानून बनाकर मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करे। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि श्री ठाकरे के आगमन के बाद विहिप की ओर से आयोजित धर्मसभा में जाने के विषय में वार्ता की जाएगी। 

धर्मसभा में शामिल होने के लिए एक लाख लोग पहुंचेंगे अयोध्या

उन्होंने कहा कि सभी संत-महंत हमारे हैं और राम मंदिर आन्दोलन में शिवसेना का भी बड़ा योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि हिन्दू संगठनों के आपसी वैमनस्य से समाज कमजोर होगा और विपक्षियों को बल मिलेगा। राज्यसभा सदस्य श्री राउत ने एक सवाल के जवाब में कहा कि हिन्दुत्व की शक्ति बढ़ रही है। यही कारण है कि राहुल गांधी, ममता व मुलायम-अखिलेश सभी को इस झंडे के नीचे आना होगा। उन्होंने बताया कि ठाकरेजी के आगमन यहां लाखों की संख्या में शिवसैनिक आ सकते हैं। लेकिन हमने भीड़ को निय्त्रिरत कर दिया है। फिर भी जो आएंगे उनके साथ ठाकरे जी जनसंवाद स्थापित करेंगे लेकिन जनसभा नहीं होगी।

कैराना लोकसभा उप चुनाव: EC ने शामली के DM को हटाया, जानें क्या है वजह

राउत ने उद्धव ठाकरे के मिनट-टू-मिनट कार्यक्रम की दी जानकारी
शिवसेना के राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने उद्ध ठाकरे के मिनट-टू-मिनट कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि श्री ठाकरे  24 नवम्बर को अपराह्न दो बजे हवाईपट्टी पर उतरेंगे। वहां से चलकर तीन बजे लक्ष्मणकिला आएंगे और यहां संतो व स्थानीय कार्यकर्ताओं सहित संगठन की ओर से आयोजित आर्शीवाद समारोह में हिस्सा लेंगे। इसके बाद सवा पांच बजे सरयू आरती में शामिल होने जाएंगे। पुन: 25 नवम्बर को पूर्वाह्न नौ बजे रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला का दर्शन करेंगे। मध्याह्न 12 बजे प्रेसवार्ता के बाद अपराह्न संगठन के कार्यकर्ताओं से संवाद करेंगे। पुन: तीन बजे हवाईपट्टी से मुम्बई प्रस्थान कर जाएंगे। वार्ता के दौरान लक्ष्मण किलाधीश महंत मैथिलीरमण शरण के अलावा राज्यसभा सदस्य अनिल देसाई, शिवसेना सचिव मिलिंद नार्वेकर, सूरज चौहान, सुनील प्रभु, अनिल परब व अजय चौधरी सभी विधायक के अतिरिक्त ब्राह्मण सभा अध्यक्ष अमरनाथ मिश्र भी मौजूद रहे। 

ये भी देखें 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Uddhav Thackeray to visit Ayodhya on Nov 24