DA Image
7 मार्च, 2021|11:14|IST

अगली स्टोरी

दो घंटे के लिए छात्रा बनी कोतवाल ने हेलमेट न लगाने वालों के काटे चालान

two ghante ke liye student bani kotwal ne helmate na lagane walon ke kaate chalan in lakhimpur kheri

बालिका दिवस पर उमा देवी चिल्ड्रेंस एकेडमी की कक्षा 12 की छात्रा सिमर कौर ने दो घंटे के लिए कोतवाल की कुर्सी संभाली। चार्ज संभालते ही महिला आरक्षी नेहा यादव ने उन्हें जीडी सौंपी और थाने की कार्रवाई समझाई। इसके पूर्व इंस्पेक्टर बृजेश त्रिपाठी ने शक्ति मिशन के तहत योगी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि सरकार महिला सहायता एवं सुरक्षा के लिए कृत संकल्प है। छात्रा कोतवाल सिमर कौर ने कोतवाली में आई महिलाओं की शिकायत सुनी और उनके निस्तारण के निर्देश दिए। इसके बाद छात्रा कोतवाल ने रोड पर निकल कर वाहनों की चेकिंग की और बिना मास्क व हेलमेट लगाए लोगों के चालान काटे। अंत में सिमर कौर को पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया।

धौरहरा में सुम्बुल बनाई गई एक दिन की कोतवाल
मिशन शक्ति अभियान के तहत राष्ट्रीय बालिका दिवस पर कस्बा धौरहरा निवासी छात्रा को एक दिन का कोतवाली प्रभारी बनाया गया। राष्ट्रीय बालिका दिवस के उपलक्ष्य में निबन्ध प्रतियोगिता आयोजित की गई। इसमें प्रथम स्थान पर रही कस्बा धौरहरा की बालिका सुम्बुल सिद्दीकी को प्रभारी निरीक्षक बनाया गया। कोतवाल द्वारा बालिका दिवस पर कस्बा धौरहरा की निवासी सुम्बुल को एक दिन का कोतवाल बनाकर कोतवाल की कार्यप्रणाली में बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। कोतवाल विद्या सागर पाल द्वारा प्रतियोगिता में प्रतिभाग को आई कस्बें सहित आसपास के स्कूलों की बालिकाओं को शॉल प्रदान की गई।

लखीमपुर की छात्रा को बनाया गया कोतवाली प्रभारी
गोला गोकर्णनाथ खीरी के अलीगंज क्षेत्र की बिटिया को रविवार को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर कोतवाली की कमान सौंपी गई। कोतवाली प्रभारी ने 10 फरियादियों की समस्याएं सुनी और उन्हें तत्काल निस्तारित किए जाने के आदेश पुलिस को दिया। अलीगंज क्षेत्र के हडेला फार्म निवासी रक्षपाल सिंह की बेटी और ग्रीन फील्ड एकेडमी लखीमपुर में कक्षा 12 की छात्रा प्रभजीत कौर को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस के मौके पर गोला कोतवाली प्रभारी बनाया गया। कोतवाली प्रभारी प्रभजीत कौर ने कोतवाली में समस्या लेकर आए 10 फरियादियों की समस्याएं सुनी और पुलिस को निर्देश दिया कि उनकी समस्याओं का तत्काल निस्तारण कराया जाए। पूरे दिन शहर में चर्चा इस बात की है कि गोला पुलिस को लखीमपुर स्कूल से छात्रा को लाना पड़ा। उन्हें गोला में ऐसी कोई छात्रा नहीं मिली कि उसे कोतवाली प्रभारी बनाया जा सके। जबकि गोला शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी माना जाता है। यहां कई महाविद्यालय और दर्जनों इंटर कॉलेज यहां के बच्चों ने जिला ही नहीं प्रदेश में झंडे गाड़े हैं। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:two ghante ke liye student bani kotwal ne helmate na lagane walon ke kaate chalan in lakhimpur kheri