triple talaq 49 year old muslim forcibly converted 15 years old teenager religion and married her and now - अधेड़ ने 15 साल की नाबालिग का कराया धर्म परिवर्तन, किया निकाह और अब.. DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अधेड़ ने 15 साल की नाबालिग का कराया धर्म परिवर्तन, किया निकाह और अब..

                       15

कानून बनने के बावजूद तीन तलाक के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे। आए दिन पीड़ित महिलाएं थानों या अधिकारियों के कर्यालयों में चक्कर काटने को मजबूर हैं। शुक्रवार को भी तीन तलाक के पांच मामले सामने आए, जिसमें हापुड़ के एक मामले ने तो झकझोर के रख दिया। हापुड़ में 49 वर्षीय व्यक्ति ने 15 वर्षीय किशोरी का धर्मपरिवर्तन करा पहले तो उससे निकाह किया और चार साल बाद तीन तलाक देकर छोड़ दिया।

वहीं हापुड़ के पिलखुवा में दहेज की मांग पूरी न होने पर तीन तलाक देकर पीड़िता को घर से निकाल दिया। इसके अलावा बिजनौर में जेठ की छेड़छाड़ का विरोध किया तो पति ने तलाक दे डाला। बुलंदशहर में तो साउदी अरब में रहने वाले शौहर ने फोन पर ही बीवी को तलाक दे दिया, मामले में एसएसपी ने जांच के निर्देश दिए हैं। ऐसे ही मुजफ्फरनगर में मेरठ की सरधना निवासी महिला को फोन पर तीन तलाक दे दिया। पीड़िता ने एसएसपी से न्याय की गुहार लगाई है।

एएसपी बोले, जाओ अपने माता-पिता के साथ रहो

चार साल पहले किशोरी का धर्मपरिवर्तन करा निकाह करने के मामले में पुलिस का रोल बेहद ही निराशाजनक रहा। आरोप है कि शुक्रवार को जब पीड़ित परिजन एएसपी से न्याय की गुहार लगाने पहुंचे तो उन्होंने पीड़िता को उसके मां-बाप के साथ रहने की सलाह दे डाली। हालांकि बाद में एएसपी पुराने मुकदमों का हवाला देकर अपना बचाव करते नजर आए।

चार वर्ष पूर्व हापुड़ में चाट का ठेला लगाने वाले की 15 वर्षीय नाबालिग बेटी को उससे करीब 34 साल बड़े उसके ही मकान मालिक अनवार (49) ने बहलाकर अपने प्यार के जाल में फंसा लिया। आरोप है कि अनवार ने किशोरी को मेरठ स्थित एक मदरसे में ले जाकर उसका धर्मपरिवर्तन कराकर उसका नाम रजिया रख दिया। बाद में किशोरी से निकाह कर चार सालों तक उसका उत्पीड़न किया। इस बीच किशोरी ने एक पुत्र को भी जन्म दिया। शुक्रवार को पीड़ित माता पिता एएसपी के समक्ष पेश हुए तो उन्होंने पीड़िता को वापस माता-पिता के साथ जाने की सलाह दे डाली।

पीड़ित परिजनों का आरोप है आरोपी अनवार उनकी बेटी को गलत कार्यों में धकेलना चाहता था। विरोध करने पर अनवार ने उनकी बेटी को तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया, जिसके बाद से वह सड़कों पर भटक रही थी। जानकारी होने पर उन्होंने अपनी बेटी को ढूंढा जो रेलवे स्टेशन पर मिली। आरोप लगाया कि जब वे शिकायत करने थाने पहुंचे तो पुलिस ने बिना कार्रवाई के ही लौटा दिया और अब एएसपी ने भी वापस जाने की सलाह दे दी।

एसएसपी सर्वेश कुमार मिश्रा ने बताया कि महिला की शिकायत पर पुलिस ने उसे उसकी बेटी से मिलवा दिया है। बेटी के धर्मपरिवर्तन करने और अगवा करने का केस अलीगढ़ में पहले से ही दर्ज है। मकान में हिस्से की मांग पर कोर्ट जाने की सलाह दी गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:triple talaq 49 year old muslim forcibly converted 15 years old teenager religion and married her and now