ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी के इन दो शहरों के बीच नमो भारत रैपिड रेल का ट्रायल शुरू, लोकसभा चुनाव से पहले पूरा हो जाएगा काम

यूपी के इन दो शहरों के बीच नमो भारत रैपिड रेल का ट्रायल शुरू, लोकसभा चुनाव से पहले पूरा हो जाएगा काम

दिल्ली-मेरठ नमो भारत (रैपिड रेल) अब मेरठ की ओर दौड़ चली है। रविवार को पहली बार दुहाई से मेरठ साउथ की ओर नमो भारत को मोदीनगर तक दौड़ाकर सफल ट्रायल किया गया।

यूपी के इन दो शहरों के बीच नमो भारत रैपिड रेल का ट्रायल शुरू, लोकसभा चुनाव से पहले पूरा हो जाएगा काम
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,मेरठSun, 10 Dec 2023 09:35 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली-मेरठ नमो भारत (रैपिड रेल) अब मेरठ की ओर दौड़ चली है। रविवार को पहली बार दुहाई से मेरठ साउथ (परतापुर) की ओर नमो भारत को मोदीनगर तक दौड़ाकर सफल ट्रायल किया गया। चंद दिनों में यह ट्रायल मेरठ साउथ तक होने वाला है। रविवार को पहली बार साहिबाबाद से दुहाई के बीच चल रही नमो भारत को दुहाई से मोदीनगर साउथ स्टेशन के बीच दौड़ाकर सफल ट्रायल किया गया। 

एनसीआरटीसी अधिकारियों के अनुसार साहिबाबाद से दुहाई के प्राथमिक खंड से आगे पहली बार ट्रायल रन आरंभ हुआ, जो नमो भारत ट्रेन ने मोदीनगर साउथ तय की यात्रा हुई। इस तरह अब नमो भारत ट्रेन मेरठ की ओर चल पड़ी है। बहुत जल्द दुहाई से मेरठ साउथ स्टेशन के बीच ट्रायल की तैयारी हो रही है। इसके लिए विद्युतीकरण का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। रविवार के ट्रायल रन को दुहाई से मेरठ के बीच के खंड को परिचालित करने की दिशा में बड़ा कदम माना जा रहा है। 

पहले चालू की गई बिजली, फिर हुआ ट्रायल

एनसीआरटीसी अधिकारियों के अनुसार निर्माण कार्य पूर्ण होने के बाद दुहाई से मोदीनगर साउथ के बीच नमो भारत ट्रेन के ट्रैक की बिजली चालू की गई। मुरादनगर रिसीविंग सब स्टेशन से मोदीनगर साउथ तक ओएचई को 25 केवी की क्षमता के साथ चार्ज किया गया, जिसके बाद इस खंड में नमो भारत ट्रेन को चलाया गया। नमो भारत ट्रेन दुहाई स्टेशन से आगे बढ़ते हुए मुरादनगर स्टेशन पहुंची और फिर उससे आगे मोदीनगर साउथ तक लगभग 12 किमी की दूरी तय की। अब आगे मोदीनगर साउथ से मेरठ साउथ स्टेशन तक 13 किलोमीटर सेक्शन में ट्रायल की तैयारी है।  

ट्रैक और ट्रैक्शन का हुआ परीक्षण

रविवार को ट्रायल रन की प्रक्रिया में नमो भारत ट्रेनों का ट्रैक और ट्रैक्शन के साथ परीक्षण किया गया। ट्रेन को ट्रेन कंट्रोल मैनेजमेंट सिस्टम (टीसीएमएस) के तहत मैन्युअल तरीके से ऑपरेट किया गया है। ट्रेन को मुरादनगर स्टेशन से बहुत धीमी रफ्तार से मोदीनगर साउथ तक लाया गया, जहां से वापसी में इसकी रफ्तार को थोड़ा बढ़ाते हुए दुहाई वापस लाया गया। अब यह ट्रायल अगले कुछ दिनों तक ऐसे ही चलता रहेगा। 

दुहाई से मेरठ साउथ है 25 किमी का सेक्शन

दुहाई से मेरठ साउथ स्टेशन के बीच 25 किमी का सेक्शन है। रैपिड रेल ट्रांजिट सिस्टम(आरआरटीएस) कॉरिडोर का वह सेक्शन है, जिसे प्राथमिक खंड के बाद जनता के लिए संचालित किया जाना है। इस सेक्शन में 4 स्टेशन मुरादनगर, मोदीनगर नॉर्थ, मोदीनगर साउथ और मेरठ साउथ हैं। जून में मेरठ साउथ तक निर्माण पूरा कर लिया गया था। इसके बाद से इस खंड में ट्रैक बिछाने, ओएचई इंस्टालेशन, सिग्नलिंग एवं टेलीकॉम, विद्युतीकरण आदि निर्माण कार्यों ने गति पकड़ ली थी। वर्तमान में ट्रैक बिछाने का कार्य लगभग पूरा कर लिया गया है। अन्य कार्य अपने अंतिम चरण में हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें