DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी: मेरठ में अमृतसर जैसा रेल हादसा होने से बाल-बाल बचा

Train (Symbolic Image)

बुधवार को मेरठ में शिवपुरम रेलवे ट्रैक पर अमृतसर जैसे रेल हादसे के हालात बन गए थे। गनीमत रही कि ट्रैक पर पड़े शव को देखने के लिए जुटी भीड़ को देख ड्राइवर गाड़ी रोकने में कामयाब हो गया। अचानक तेज आवाज के साथ ट्रेन थमने से घबराए लोगों में भगदड़ मच गई। इस दौरान मची अफरा-तफरी में कई लोग गिरकर चोटिल हो गए। मेरठ सिटी-आनंद विहार ट्रेन के लोको पायलेट ने अचानक इमरजेंसी ब्रेक लगाए। अंबाला इंटरसिटी और आनंद विहार जाने वाली ट्रेन काफी देर तक रेलवे ट्रैक पर खड़ी रही। बाद में टीपीनगर पुलिस ने रेल हादसे में मरे युवक का शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

टीपीनगर क्षेत्र में अमृतसर जैसा रेल हादसा हो जाता लेकिन शुक्र है कि हादसा टल गया। घटना दोपहर करीब ढाई बजे की है। मलियाना के शिवपुरम रेलवे ट्रैक पर कूदकर एक युवक ने जान दे दी। इस दौरान रेलवे ट्रैक पर शव देखने के लिए लोगों की भीड़ जुट गई। सैकड़ों लोग ट्रैक पर आ गए। इस दौरान मेरठ सिटी से आनंद विहार जाने वाली ट्रेन आ गई लेकिन लोगों को ट्रेन का पता तक नहीं लग पाया। जब ट्रेन काफी नजदीक आ गई तो गेटमैन बालकराम ने लोगों को ट्रैक पर देखा और तुरंत लाल झंडी दिखाई। लाल झंडी दिखाने के बाद लोको पायलेट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोका। ट्रेन को देखकर लोगों में भगदड़ मच गई। पुलिस भी शव को छोड़कर भागने लगी। भगदड़ में चार लोग घायल हो गए। आनन्द विहार पैसेंजर ट्रेन और अंबाला इंटरसिटी ट्रेन करीब पौने घंटे तक ट्रैक पर ही खड़ी रही।

रेलवे को किया अलर्ट
लोको पायलेट ने इसकी जानकारी मेरठ सिटी पर रेलवे अधिकारियों को दी। अधिकारियों ने रेलवे बोर्ड को सूचित किया। करीब पौन घंटे तक मेरठ-दिल्ली रेलवे ट्रैक प्रभावित हो गया। बाद में पुलिस ने शव को हटाया तो ट्रेनों तो संचालन शुरू हुआ।

गेटमैन की सतर्कता से बची लोगों की जान
शव को देखने पहुंचे सैकड़ों लोगों की जान पर आफत बन आई होती अगर गेटमैन बालकराम की नजर ट्रेन पर न पड़ती। उसने तुरंत लाल झंडी दिखाकर ट्रेन रुकवाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Train accident like Amritsar inicdent escape in Meerut Uttar Pradesh