ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशगणेश रूप में आज दर्शन देंगे जगन्नाथ, बलभद्र, सुभद्रा, तीनों विग्रहों का भक्त करेंगे जलाभिषेक

गणेश रूप में आज दर्शन देंगे जगन्नाथ, बलभद्र, सुभद्रा, तीनों विग्रहों का भक्त करेंगे जलाभिषेक

वाराणसी में 22 जून को भगवान जगन्नाथ के जलाभिषेक के साथ बनेगी। अस्सी स्थित जगन्नाथ मंदिर में प्रात:काल अभिषेक आरंभ होगा।

गणेश रूप में आज दर्शन देंगे जगन्नाथ, बलभद्र, सुभद्रा, तीनों विग्रहों का भक्त करेंगे जलाभिषेक
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,वाराणसीSat, 22 Jun 2024 06:28 AM
ऐप पर पढ़ें

काशी में मेलों के मौसम की भूमिका ज्येष्ठ पूर्णिमा, 22 जून को भगवान जगन्नाथ के जलाभिषेक के साथ बनेगी। अस्सी स्थित जगन्नाथ मंदिर में प्रात:काल अभिषेक आरंभ होगा। वर्ष में यह एकमात्र ऐसी तिथि है जब भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और सुभद्रा गणेश रूप में दर्शन देते हैं। 

भगवान जगन्नाथ श्याम गणेश, देवी सुभद्रा पीत गणेश और बलभद्र श्वेत गणेश के रूप में दर्शन देंगे। ट्रस्ट श्रीजगन्नाथ के ट्रस्टी दीपक शापुरी ने बताया कि शास्त्र कथाओं के अनुसार ज्येष्ठ पूर्णिमा पर भगवान जगन्नाथ, सुभद्रा और बलभद्र ने सागर में स्नान किया था। सागर में स्नान के बाद बाहर निकलने पर भगवान जगन्नाथ ने श्याम गणेश, सुभद्रा ने पीत गणेश और बदभद्र ने श्वेत गणेश के रूप में प्रथम दर्शन दिए। 

रथयात्रा मेला से एक पखवारे पूर्व किया जाने वाला जलाभिषेक प्रभु के सागर स्नान का प्रतीक है। कथा कहती है कि सागर में अत्यधिक स्नान और पकवानों के अधिक सेवन के कारण तीनों अस्वस्थ हो गए थे। स्वास्थ्य लाभ के लिए वे रात्रि में ही अज्ञात स्थान पर चले गए। जब प्रभु ही अज्ञातवास में हों तो दर्शन किसके होंगे, इस धारणा का अनुपालन करते हुए प्रतिवर्ष ज्येष्ठ पूर्णिमा पर तीनों विग्रहों के जलाभिषेक के बाद मंदिर के पट 14 दिनों के लिए बंद हो जाते हैं।

इस वर्ष भी 22 जून की रात्रि शयन आरती के बाद परंपरा के अनुपालन में मंदिर के पट 14 दिनों के लिए बंद कर दिए जाएंगे। मंदिर के पट फिर आषाढ़ शुक्ल प्रतिपदा, पांच जुलाई को खुलेंगे। उस दिन दर्शन पूजन होगा। आषाढ़ शुक्ल द्वितीया, छह जुलाई को भगवान जगन्नाथ की डोली यात्रा निकाली जाएगी। यह यात्रा अस्सी स्थित जगन्नाथ मंदिर से आरंभ होकर रथयात्रा स्थित पं. बेनीराम के बगीचे तक जाएगी। सात जुलाई को रथयात्रा मेला आरंभ होगा।

Advertisement