ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशटिकैत बोले- दिल्ली दूर नहीं, चढ़ाई को तैयार; पश्चिमी यूपी में किसान आंदोलन के समर्थन में कृषि लॉकडाउन

टिकैत बोले- दिल्ली दूर नहीं, चढ़ाई को तैयार; पश्चिमी यूपी में किसान आंदोलन के समर्थन में कृषि लॉकडाउन

Kisan andolan Bharat bandh: पश्चिमी यूपी में भारत बंद की अपील पर आज किसान-मजदूर खेतों में काम नहीं करेंगे। मुजफ्फरगनर में किसान 19 जगह चक्का जाम करेंगे।

टिकैत बोले- दिल्ली दूर नहीं, चढ़ाई को तैयार; पश्चिमी यूपी में किसान आंदोलन के समर्थन में कृषि लॉकडाउन
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,मेरठFri, 16 Feb 2024 11:00 AM
ऐप पर पढ़ें

Kisan andolan Bharat bandh: भाकियू टिकैत आज अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ग्रामीण भारत बंद करेगी। इस दौरान किसानों का कृषि लॉकडाउन रहेगा। किसान टूल डाउन हड़ताल पर रहेंगे। न तो कोई किसान खेतों में काम करेगा और न ही मजदूरों को काम देगा। राकेश टिकैत ने अपील की है कि ग्रामीण्र पृष्ठभूमि के लोग अपनी दुकानें बंद रखें। मुजफ्फरगनर में किसान 19 जगह चक्का जाम करेंगे। इसके साथ ही कल सिसौली मुख्यालय पर मासिक पंचायत में आगे की रणनीति तय होगी।

भाकियू टिकैत के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बताया कि पंजाब से आने वाले किसान अभी तक दिल्ली बॉर्डर तक नहीं पहुंचे हैं। वेस्ट यूपी के किसानों से दिल्ली दूर नहीं है, जब भी संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) की कॉल होगी भाकियू कार्यकर्ता दिल्ली पर चढ़ाई कर देंगे। इससे पहले शुक्रवार को किसान ग्रामीण भारत बंद में शामिल होंगे। 17 फरवरी को पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड और यूपी के प्रतिनिधियों की बैठक सिसौली में होगी। बैठक में ही भविष्य के आंदोलन का निर्णय लिया जाएगा। जिला संगठन अध्यक्ष अनुराग चौधरी ने बताया कि शुक्रवार को पूरे जनपद में किसान लॉकडाउन रहेगा।

किसान रहे नजरबंद
एमएसपी कानून की गारंटी, कर्जमाफी और बिजली अधिनियम रद्द करने जैसे कई अन्य मांगों को लेकर शुक्रवार को ग्रामीण भारत बंद रखेंगे। भारतीय किसान यूनियन ने ग्रामीण भारत बंद के तहत मुजफफरनगर में 19 जगहों पर चक्का जाम की घोषणा की है। पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। एसएसपी अभिषेक सिंह ने बताया कि जिन जगहों पर चक्का जाम रहेगा उन सभी जगहों पर पुलिस की तैनाती रहेगी। जिससे कि किसी को आवागमन में परेशानी न हो। किसी भी सूरत में स्कूली वाहन, एंबुलेंस को नहीं रोकने दिया जाएगा। किसान संगठनों के कई पदाधिकारी गुरुवार को भी नजरबंद रहे।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें