DA Image
Sunday, November 28, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशसिंगर कुमार सानू को सुनने को पहुंच गए तीन लाख लोग, जानें कहां हो रहा था कार्यक्रम 

सिंगर कुमार सानू को सुनने को पहुंच गए तीन लाख लोग, जानें कहां हो रहा था कार्यक्रम 

लखनऊ। निज संवाददाताDinesh Rathour
Sun, 14 Nov 2021 10:20 PM
सिंगर कुमार सानू को सुनने को पहुंच गए तीन लाख लोग, जानें कहां हो रहा था कार्यक्रम 

कला, संस्‍कृति, संगीत, विरासत,… बेहतरीन कारीगरों और शिल्‍पकारों के हुनर से सजे हुनर हाट में रविवार को गायक कुमार सानू का जादू सबके सिर चढ़ कर बोला। जैसे ही मंच पर कुमार सानू का आगमन हुआ, सभी ने तालियों से उनका स्वागत किया। उसके बाद कभी हिंदी तो कभी रेट्रो गीतों से कुमार सानू ने शाम को रंगीन कर दिया। हुनर हाट की सांस्कृतिक शाम का आगाज पॉश जेम्स और अनुष्का ने अपनी सुरीली आवाज में किया। मंच पर उनका खूब जादू चला। उन्होंने सबसे पहले नहीं लगदा तेरे बिना सजना अ भी जा... से शुरुआत की। उसके बाद उन्होंने चांदनी रातें... मुहब्बत हो गई है तुमसे... गाकर सभी की तालियां बटोरीं।

उसके बाद मेरे रशके कमर..., लंबर गिन्नी...,  काली तेरी चोटी..., तैनू सूट सूट करदा..., आजा सोनिया घर आजा..., घुंघरू टूट गए..., जुगनू जी..., कजरा मोहब्बत वाला... गाकर माहौल बनाया। उसके बाद हुई कुमार सानू की इंट्री हुई तो कुछ देर तक लोगों की सीटियां, तालियां का शोर रुकने का नाम ही नहीं ले रहा था। उन्होंने अपने अंदाज में सबसे दो दिल मिल रहे हैं, मगर चुपके चुपके...की प्रस्तुति देकर सभी को मदहोश कर दिया। उसके बाद उन्होंने सांसों की जरूरत है जैसे..., धीरे धीरे से मेरी जिंदगी में आना..., तुम दिल की धड़कन में रहते हो...,, ऐ काश के हम होश में अब आने न आए..., इस तरह आशिकी का असर छोड़ जाऊंगा..., फर्स्ट टाइम देखा तुझे हम खो गया..., तुझे देखा तो ये जाना सनम..., ओ लड़की आंख मारे... जैसे गीत गाकर पूरे पंडाल में जोश भर दिया। 

सानू के कहने पर खूब बजीं सीटियां

मंच पर कुमार सानू ने दर्शकों से सीटियां बजाने को कहा तो पूरे पंडाल में सीटी बजने लगी। युवाओं के साथ महिलाओं ने भी खूब सीटियां बजाईं। सानू के गीतों पर युवाओं के साथ हर उम्र के लोगों का मन झूमने लगा।

हुनरमंद कारीगरों की कला से रूबरू हुए लोग 

नवाबों की नगरी लखनऊ में वोकल फॉर लोकल की थीम पर आयोजित हुनर हाट में 75 जिलों के बेहतरीन कारीगर और शिल्‍पकारों ने अपने हुनर से सभी का दिल जीत लिया। छुट्टी के दिन लखनऊवासियों ने बढ़ चढ़ कर आंनद लिया।

लखनऊ से बहुत प्यार मिला है

लखनऊ के बारे में कुमार सानू ने कहा कि यहां के लोगों को संगीत से बहुत प्यार है, यही वजह है यहां के लोग मुझे बहुत प्यार दिया है। मेरा मन करता है कि मैं अपने सारे गीत यहां के मंचों पर गाकर जाऊं। 

रविवार को हुनर हाट में उमड़ा सैलाब

हुनर हाट के पहले रविवार को करीब तीन लाख लोग आए। देर रात तक हजारों की भीड़ बनी रही। आयोजकों ने भीड़ देख कर सुरक्षा कर्मी और पुलिस जवानों की संख्या बढ़ाई। हुनर हाट में बने मेरा गांव मेरा देश में गांव की माटी की झलक देख दर्शक काफी उत्साहित हुए।
 

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें