ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशकहीं जंप करके आगे तो कहीं बैक हो गए हजारों बिजली मीटर, गांरटी पीरिएड में ही हुए बर्बाद 

कहीं जंप करके आगे तो कहीं बैक हो गए हजारों बिजली मीटर, गांरटी पीरिएड में ही हुए बर्बाद 

उत्‍तर प्रदेश में बिजली उपभोक्ताओं के घर में लगे इलेक्ट्रॉनिक मीटरों की गुणवत्ता सवालों के घेरे में आ गई है। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम में जो खुलासा हुआ, उससे बिजली कंपनियों में हड़कंप मच गया है।

कहीं जंप करके आगे तो कहीं बैक हो गए हजारों बिजली मीटर, गांरटी पीरिएड में ही हुए बर्बाद 
Ajay Singhविशेष संवाददाता ,लखनऊSun, 05 Nov 2023 07:43 AM
ऐप पर पढ़ें

Electricity Meter: उत्तर प्रदेश में तीन साल के गारंटी पीरिएड में बड़ी संख्या में बिजली मीटर खराब हो रहे हैं। पश्चिमांचल विद्युत वितरण कंपनी की रिपोर्ट में घटिया मीटर को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। गारंटी पीरिएड के दौरान 7167 मीटर जहां जंप करके आगे भाग गए, वहीं 4911 मीटर बैक हो गए। जबकि 8238 मीटर ऐसे मिले, जिनका डिस्प्ले की गायब हो गया। जांच हुई तो बाकी बिजली कंपनियों में भी ऐसे ही चौंकाने वाले आंकड़े सामने आ सकते हैं।

प्रदेश में विद्युत उपभोक्ताओं के घर में लगे इलेक्ट्रॉनिक मीटरों की गुणवत्ता सवालों के घेरे में आ गई है। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम में मीटर निर्माता कंपनियों, परीक्षण खंड व स्टोर खंड के साथ मीटिंग में जो खुलासा हुआ, उससे बिजली कंपनियों में हड़कंप मच गया है। यही हाल दूसरी बिजली कंपनियों में भी हो सकता है। क्योंकि सभी बिजली कंपनियों में यही मीटर निर्माता कंपनी मीटर सप्लाई कर रही हैं। पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम ने पिछले तीन वर्षों में विभिन्न कंपनियों से जो मीटर खरीदे उसमें गारंटी पीरियड में 30268 मीटर खराब पाए गए।

उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने पावर कार्पोरेशन प्रबंधन से सभी बिजली कंपनियों में जांच कराने की मांग की है। साथ ही घटिया मीटर कंपनियों को तुरंत ब्लैक लिस्ट कर उनसे मीटर खरीद पर पाबंदी लगाने की भी मांग उठाई है।

बकाया भुगतान के लिए ओटीएस लागू
बिजली उपभोक्ताओं के लिए यूपी सरकार ने एकमुश्त समाधान योजना लागू कर दी है। योजना आठ नवंबर से 31 दिसंबर तक कुल 54 दिनों तक तीन खंडों में लागू की जाएगी। योजना का पहला चरण आठ नवंबर से 30 नवंबर, दूसरा एक दिसंबर से 15 दिसंबर तथा तीसरा चरण 16 दिसंबर से 31 दिसंबर तक चलेगा।

पीवीवीएनएल डिस्कॉम की प्रबंध निदेशक चैत्रा वी. ने बताया कि इस योजना के तहत समस्त विद्युत भार के एलएमवी-1 (घरेलू), एलएमवी-2 (वाणिज्यिक), एलएमवी-4बी (निजी संस्थान), एलएमवी-5 (निजी नलकूप) एवं एलएमवी-6 (औद्योगिक) उपभोक्ताओं को सरचार्ज राशि पर अधिकतम 100 प्रतिशत की छूट प्रदान की गई है। उपभोक्ताओं को उनके बकाये पर किस्तों में भुगतान की सुविधा का विकल्प भी दिया गया है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें