ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशकाशी में इस बार खास होगा मां सरस्‍वती का पूजनोत्‍सव, ढाई लाख के सोला साज से होगा शृंगार

काशी में इस बार खास होगा मां सरस्‍वती का पूजनोत्‍सव, ढाई लाख के सोला साज से होगा शृंगार

काशी में इस वर्ष सरस्वती पूजनोत्सव में दो ऐतिहासिक प्रयोग दिखेंगे। सार्वजनिक सरस्वती पूजनोत्सव के इतिहास की सबसे बड़ी प्रतिमा प्रतिष्ठित की जाएगी। एनिमेशन थीम पर देवी की प्रतिमा गढ़ी जा रही है।

काशी में इस बार खास होगा मां सरस्‍वती का पूजनोत्‍सव, ढाई लाख के सोला साज से होगा शृंगार
Ajay Singhप्रमुख संवाददाता,वाराणसीSat, 03 Feb 2024 06:51 AM
ऐप पर पढ़ें

काशी में इस वर्ष सरस्वती पूजनोत्सव में दो ऐतिहासिक प्रयोग दिखेंगे। इस वर्ष सार्वजनिक सरस्वती पूजनोत्सव के इतिहास की सबसे बड़ी प्रतिमा प्रतिष्ठित की जाएगी। वहीं पहली बार एनिमेशन थीम पर विद्या की देवी की प्रतिमा गढ़ी जा रही है। दोनों ही प्रतिमाओं का निर्माण युवा शिल्पकार अभिजीत विश्वास के खोजवां स्थित प्रतिमा कारखाने में हो रहा है। अपने परिवार में तीसरी पीढ़ी के शिल्पकार अभिजीत ने बताया कि देवी सरस्वती की इस प्रतिमा की बैठी हुई अवस्था में कुल लंबाई साढ़े सत्रह फीट होगी।

 प्रतिमा की कुल ऊंचाई 35 फीट है। उनका कहना है कि सरस्वती पूजनोत्सव के लिए पूरे दिश में इतनी बड़ी प्रतिमा अब तक नहीं बनाई गई है। इस प्रतिमा का निर्माण गत वर्ष दुर्गा पूजा के समय ही शुरू हो गया था। प्रतिमा के शृंगार में प्रयोग में लाए जा रहे आभूषण भी एंटीक हैं। इन्हें बनकावासी का साज या सालार ढाके बांग्ला के नाम से जाना जाता है। इसका निर्माण पश्चिम बंगाल के वर्धमान जिले के परंपरागत कारीगरों ने विशेष आर्डर पर किया है। मुकुट सहित इस साज की कीमत करीब ढाई लाख रुपये है। अभिजीत विश्वास ने कहा कि सरस्वती पूजा छोड़िए, काशी में सौ साल से भी अधिक पुराने हो चुके सार्वजनिक दुर्गोत्सव में भी ऐसे साज का उपयोग अब तक नहीं हुआ था। यह प्रतिमा चेतगंज स्थित एक पूजा पंडाल में प्रतिष्ठित की जाएगी।

छह वर्षीय बालिका का होगा स्वरूप
काशी की सरस्वती पूजा में पहली बार देवी के बाल स्वरूप के दर्शन भी होंगे। इस प्रतिमा का निर्माण एनिमेशन थीम पर हो रहा है। छह वर्ष की बालिका के रूप में कमल पर विराजमान देवी पुस्तक पढ़ती हुई दिखेंगी। यह प्रतिमा बच्चों की विशेष रुचि को ध्यान में रख कर तैयार की जा रही है। इसकी प्रतिष्ठा बजरडीहा क्षेत्र में बजरंग स्पोर्टिंग क्लब के पूजा पंडाल में होगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें