this diwali to be celebrated three days in ayodhya with record of 3 lakhs diyas - इस बार अयोध्या में दीवाली तीन दिन तक मनाई जाएगी, 3 लाख दिए जलाने का बनेगा रिकॉर्ड DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इस बार अयोध्या में दीवाली तीन दिन तक मनाई जाएगी, 3 लाख दिए जलाने का बनेगा रिकॉर्ड

Diwali

इस बार अयोध्या में दीवाली तीन दिन तक मनाई जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 6 नवम्बर को इसमें शामिल होंगे। इस बार 3 लाख दीये जला कर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में शामिल होने की योजना भी है। वहीं दक्षिण कोरिया के संस्कृति मंत्री और मुख्यमंत्री मिल कर यहां बनने वाले रानी हो के मेमोरियल का शिलान्यास भी करेंगे। इस बार अयोध्या में मनाई जाने वाली दीवाली को और भी भव्य बनाये जाने पर तेजी से काम चल रहा है। इसके कार्यक्रम 4 नवम्बर से शुरू हो जाएंगे और 6 नवम्बर को मुख्यमंत्री इसमें शामिल होंगे। बीते वर्ष की तरह पुष्पक विमान से भगवान राम, लक्ष्मण और सीता को लाया जाएगा। वहीं लेज़र शो, शोभा यात्रा, झांकियों से आयोजन को और भव्य बनाया जाएगा। इस बार वॉटर शो का आकर्षण भी इसमें जोड़ा जा रहा है।


6 नवम्बर को सरयू के पैडी पर आयोजित कार्यक्रम में तीन मंच बनाए जाएंगे। एक मंच पर मुख्यमंत्री समेत राज्य सरकार की मौजूदगी होगी। दूसरा मंच संतों के लिए बनाया जाएगा और तीसरे मंच पर भगवान राम, सीता और लक्ष्मण को बैठाया जाएगा।

गिनीज बुक में शामिल होने की तैयारी पूरी
बीते वर्ष 1.71 लाख दीये यहां जलाए गये थे लेकिन यह गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में शामिल नहीं हो पाया क्योंकि पर्यटन विभाग ने इसके लिए आवेदन करने में देर कर दी थी। लेकिन इस बार विभाग पहले ही गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड में शामिल होने के लिए आवश्यक औपचारिकताएं पूरी कर चुका है। 6 नवम्बर को इनके अधिकारी अयोध्या में मौजूद रहेंगे।


वहीं रानी हो के मेमोरियल का शिलान्यास भी इस दौरान किया जाएगा। दक्षिण कोरिया के इतिहास में कहा गया है कि अयोध्या से दो हज़ार साल पहले अयोध्या की राजकुमारी सुरीरत्ना उर्फ रानी हो दक्षिण कोरिया आई थीं और यहां उनकी शादी राजा सूरो से हुई। उनका एक मेमोरियल अयोध्या में बनाया जाना है। इसका शिलान्यास किया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:this diwali to be celebrated three days in ayodhya with record of 3 lakhs diyas