ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशये गूंगे-बहरे हैं, गाली-गलौज क्या सुन लेंगे? मूक बधिर विद्यालय के बगल में बीयर दुकान पर बोले आबकारी निरीक्षक

ये गूंगे-बहरे हैं, गाली-गलौज क्या सुन लेंगे? मूक बधिर विद्यालय के बगल में बीयर दुकान पर बोले आबकारी निरीक्षक

ये गूंगे-बहरे हैं, गाली-गलौज क्या सुन लेंगे? मूक बधिर विद्यालय के बगल में बीयर दुकान खुलने पर यह अजीब बोले हैं आबकारी निरीक्षक के। सासनीगेट पर प्राग नारायण विद्यालय के बगल में दुकान चल रही है।

ये गूंगे-बहरे हैं, गाली-गलौज क्या सुन लेंगे? मूक बधिर विद्यालय के बगल में बीयर दुकान पर बोले आबकारी निरीक्षक
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,अलीगढ़Wed, 29 Nov 2023 09:07 PM
ऐप पर पढ़ें

ये गूंगे-बहरे हैं, ये क्या सुनते हैं, जो गाली-गलौच सुन लेंगे। बुधवार को सासनीगेट पर बीयर दुकान की जांच करने पहुंचे आबकारी निरीक्षक ने मूक बधिर विद्यार्थियों को लेकर यह टिप्पणी कर डाली। मूक बधिर विद्यालय की दीवार से बीयर दुकान की दीवार सटे होने के बाद भी निरीक्षक ने शिकायतकर्ताओं को गलत ठहरा दिया। सासनीगेट चौराहा पर प्राचीन काली मंदिर व उसके बराबर ही वर्षों पुराना प्राग नारायण मूक बधिर विद्यालय संचालित होता है। इस विद्यालय की दीवार जहां समाप्त होती है। उसके बराबर में ही अनुज्ञापी रानी वार्ष्णेय के नाम से बीयर की दुकान संचालित हो रही है।

स्थानीय एडवोकेट राजीव गुप्ता, सौरभ यादव आदि ने आईजीआरएस पोर्टल पर दुकान को लेकर शिकायत की थी। बुधवार को आबकारी निरीक्षण अभिषेक वत्स शिकायत की मौके पर जांच करने के लिए पहुंचे। शिकायतकर्ताओं का आरोप है कि आबकारी निरीक्षक ने मूक बधिक विद्यार्थियों को लेकर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणी की है।

वहीं निरीक्षक ने मौके पर ही शिकायतकर्ताओं को सारे नियम गिनाते हुए बता दिया कि दुकान का संचालन ठीक हो रहा है। लोगों ने कहा कि दीवार से दीवार सटी है फिर भी। इस पर निरीक्षक ने कहा कि नगर निगम क्षेत्र में 50 मीटर का नियम है। वह भी गेट से नापा जाता है। शिकायतकर्ताओं कहा कहना है कि वह इस संबंध में डीएम से शिकायत करेंगे।

आबकारी निरीक्षक बोले, मजाक में कहा था
आबकारी निरीक्षक अभिषेक वत्स से जब मूक बधिर विद्यार्थियों को गूंगे-बहरे होते हुए, गाली-गलौच क्या सुन लेंगे टिप्पणी पर पूछा गया तो उनका जवाब था कि वह तो मजाक में कह गए थे। उन लोगों की शिकायत में लिखा था, मैनें कहा था कि शिकायत तो सही लिखा करो, हमें तो जवाब लिखना होता। बहरा व्यक्ति कैसे सुन लेगा।

वहीं, जिला आबकारी अधिकारी सतीश चंद्र ने कहा कि मूक बधिरों के प्रति पूरा सम्मान है। क्षेत्रीय आबकारी निरीक्षक को इस तरह से बात नहीं करनी चाहिए। दुकान का निरीक्षण करने के साथ ही विद्यालय के प्रधानाचार्य से भी वार्ता की जाएगी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें