ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशअयोध्या श्रीरामजन्भूमि परिसर में होगी 24 घंटे इलाज की व्यवस्था, 365 दिन की फ्री सेवा

अयोध्या श्रीरामजन्भूमि परिसर में होगी 24 घंटे इलाज की व्यवस्था, 365 दिन की फ्री सेवा

अयोध्या श्रीरामजन्भूमि परिसर में 24 घंटे इलाज की व्यवस्था होगी। अपोलो की संस्था साल के 365 दिन और 24 घंटे नि: शुल्क अपनी सेवाएं देगा।

अयोध्या श्रीरामजन्भूमि परिसर में होगी 24 घंटे इलाज की व्यवस्था, 365 दिन की फ्री सेवा
Deep Pandeyकमलाकान्त सुन्दरम,अयोध्याSun, 16 Jun 2024 07:37 AM
ऐप पर पढ़ें

अयोध्या में रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा के बाद से देश भर से लाखों की संख्या में श्रद्धालु यहां आ रहे है। यहां उच्च पदस्थ वीवीआईपी, उद्योग जगत और बालीवुड की भी हस्तियां पहुंच रही है। ऐसे में श्रद्धालुओं के सेहत भी श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की प्राथमिकताओं में है। खास यह है कि अयोध्या में मेडिकल कालेज तो है लेकिन शैशव अवस्था में है। यहां आधुनिक सुविधाओं का अभाव है। सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल का भी अभाव है। इसके चलते तीर्थ क्षेत्र ने चिकित्सा के क्षेत्र में प्रतिष्ठित अपोलो ग्रुप के साथ अनुबंध किया है। अपोलो ग्रुप की ओर से इस संबंध में आए एक प्रस्ताव को तीर्थ क्षेत्र ने बिना देरी स्वीकार कर लिया है। यही नहीं आपातकालीन चिकित्सा केंद्र के लिए तीर्थ क्षेत्र ने छह हजार वर्ग फिट आच्छादित स्थल भी उपलब्ध करा दिया है।

 15 वर्षों का किया गया है एग्रीमेंट:
श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के न्यासी डा अनिल मिश्र बताते हैं कि अपोलो हॉस्पिटल इंटरप्राइजेज लिमिटेड के प्रमोटर ग्रुप की ओर से गठित एक सार्वजनिक धर्मार्थ ट्रस्ट बिलियन हार्ट्स बीटिंग फाउंडेशन (बीएचबीएफ) अपने प्रोजेक्ट 'सुरक्षा' के तहत अयोध्या में आपातकालीन चिकित्सा केंद्र स्थापित का प्रस्ताव दिया था। बताया गया कि यह संस्था उन समूहों की स्वास्थ्य सम्बन्धी जरुरतों को पूरा करने के लिए प्रयास रत है जिन्हें गुणवत्ता पूर्ण सुविधा नहीं उपलब्ध है। निम्न आय वर्ग के जरुरतमंदों को दवाएं व उपयोगी सामग्री के अलावा जागरुकता शिविर आयोजित कर उन्हें उचित परामर्श भी संस्था की ओर से दिया जाता है। यह संस्था तिरुपति तिरुमला देवस्थानम (टीटीडी) में भी अपनी सेवाएं दे रही है। बताया गया कि अनुबंध में उभयपक्षो की ओर से आवश्यक व्यवस्थाओं का उल्लेख किया गया है। इसके मुताबिक श्रीरामजन्म भूमि परिसर में स्थित पीएफसी में आपातकालीन चिकित्सा केंद्र के लिए काम्प्लेक्स का एक हिस्सा संस्था को उपलब्ध करा दिया गया है। संस्था द्वारा हास्पिटल को उच्चीकृत बनाने में लगी है। उभयपक्षो के मध्य में 15 साल का करार हुआ है।

बायो मेडिकल अपशिष्ट प्रबंधन का जिम्मा तीर्थ क्षेत्र संभालेगा:
श्री रामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र और अपोलो की संस्था के बीच हुए करार के मुताबिक तीर्थ क्षेत्र एचवीएसी (हीटिंग, वेंटिलेशन व एयर कंडीशनिंग) की व्यवस्था करेगा। इसके अलावा एमजीपीए यानी मेडिकल गैस पाइपलाइन सिस्टम व पीएच आई अर्थात सार्वजनिक स्वास्थ्य इंजीनियरिंग समेत विद्युत आपूर्ति भी सुनिश्चित कराएगा। वहीं महत्वपूर्ण प्रणालियों के लिए जनरेटर बैंकअप, बायो मेडिकल अपशिष्ट प्रबंधन तथा सेंटर में कार्यरत चिकित्सकों व पैरा मेडिकल स्टाफ की आवासीय सुविधा भी दिलाएगा। उधर अपोलो की संस्था साल के 365 दिन और 24 घंटे नि: शुल्क अपनी सेवाएं देगा। संस्था की ओर से छह बेड एक्यूट केयर यूनिट भी स्थापित किया जाएगा। वहीं वाइटल कार्डियक सपोर्ट डायग्नोस्टिक की व्यवस्था करेगा और दो पूरी तरह से उन्नत कार्डियक लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस भी उपलब्ध कराएगा।
 

Advertisement