DA Image
2 दिसंबर, 2020|6:07|IST

अगली स्टोरी

इंतज़ार खत्म :  पर्यटकों के लिए खुल गया बहराइच कतर्नियाघाट वन्य जीव प्रभाग 

सांसद अक्षयबर लाल गोंड ने रविवार को फीता काटकर कतर्नियाघाट वन्य जीव प्रभाग का शुभारंभ किया। इसके साथ ही पर्यटकों की आमद शुरू हो गई। सांसद ने पहले पर्यटक बहराइच निवासी फुरकान अहमद को बुके देकर स्वागत किया। कोविड - 19 संक्रमण के दौरान यह वन्य जीव प्रभाग पर्यटकों के लिए पूरी तरह बन्द कर दिया गया था। 

 मोतीपुर वन विश्राम भवन परिसर में रविवार को आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ के मौके पर डीएफओ बहराइच ने कहा कि कतर्नियाघाट वन्य जीव प्रभाग में पर्यटकों के लिए सभी तरह की सुविधाएं मौजूद हैं। यहां का प्राकृतिक वातावरण व वन्य जीव हमेशा से पर्यटकों को लुभाता रहा है। इस बार और भी अधिक सुविधाओं के साथ पर्यटकों का स्वागत किया जाएगा। वन क्षेत्र के पास रहने वाले ग्रामीणों को भी पर्यटन क्षेत्र से जोड़ा जा रहा है। जिन ग्रामीणों के पास एक या दो कमरे के साफ सुथरे आवास हैं, एंव उनमें सुरक्षा के साथ पर्यटकों के ठहरने की सुविधा है। होम स्टे योजना के तहत उनका रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है। 

 बहराइच सांसद अक्षयवर लाल गोंड ने कहा कि पर्यटन के कारण ही हमारे क्षेत्र की पहचान दूर दराज शहरों तक है। इसे बढ़ावा देने के लिए सरकार हर सम्भव प्रयास कर रही है। सरकार के आदेश पर हम लोगों ने समिति के माध्यम से पर्यटन के क्षेत्र में बढ़ावा देने के लिए कार्य योजना बना कर दी थी, जिसकी संस्तुति भी मिल चुकी है। इसके अलावा पर्यटन  को बढ़ावा देने को बहुत जल्द नानपारा से कतर्नियाघाट तक टूरिज़्म ट्रेन चलाने पर भी विचार चल रहा है।

इस दौरान प्रभागीय वनाधिकारी यशवंत सिंह, डीएसएम प्रदीप सिंह चौहान, डिपो अधिकारी राजेश सिंह राठौर, अनुभाग अधिकारी मोहम्मद शफी,वन क्षेत्राधिकारी मोतीपुर महेंद्र मौर्या, वन क्षेत्राधिकारी धर्मापुर अभयसिंह, वन क्षेत्राधिकारी मुर्तिहा एके त्यागी, वन क्षेत्राधिकारी ककरहा इरफान अहमद,एसटीपीएफ प्रभारी सत्येन्द्र कुमार, वी.के. सिंह, अक्षत सिंह, कबीरदास गोंड, अमिताभ श्रीवास्तव, नरेंद्र प्रताप सिंह, डेविड सिंह, कौशल कुमार सिंह समेत काफी संख्या में लोग मौजूद रहे। 

एक नवम्बर से गुलजार हुए कतर्नियाघाट वन्य जीव प्रभाग में ऑनलाइन बुकिंग कराकर पर्यटन के लिए पहुंचे बहराइच निवासी मोहम्मद फुरकान अहमद इस सत्र के प्रथम पर्यटक बने। सांसद ने प्रथम पर्यटक को बुके देकर उनका स्वागत किया, तथा उन्हें उनके रूम तक पहुंचाने भी गए। इस दौरान मौके पर मौजूद सभी वनकर्मियों, अधिकारियों एंव ग्रामीणों ने ताली बजाकर प्रथम पर्यटक का स्वागत किया।

वन्य जीव प्रभाग को पर्यटन के लिए खुलने की खबर मिलते ही कई पर्यटक जंगल की सैर करने के लिए पहुंचे। निगम कर्मचारियों की ओर से पर्यटकों को ईको टूरिज्म की गाड़ी में बिठाया गया। तत्पश्चात् सांसद अक्षयवर लाल गोंड एवं डीएफओ कतर्नियाघाट यशवंत सिंह ने हरी झंडी दिखा कर पर्यटकों को जंगल सफारी के लिए रवाना किया। पर्यटकों को रवाना करने के बाद सांसद व डीएफओ कतर्नियाघाट ने इको टूरिज़्म की गाड़ी पर बैठ कर कुछ दूर जंगल की सैर भी किया । 

डीएफओ ने सांसद को हाथियों के झुंड की तस्वीर देकर किया सम्मानित 

कतर्नियाघाट टूरिज्म  शुभारंभ के मौके पर मोतीपुर वन विश्राम गृह पहुंचे सांसद  गोंड का स्वागत कतर्नियाघाट वन्य जीव प्रभाग के प्रभागीय वनाधिकारी की ओर से किया गया। इस दौरान डीएफओ यशवंत सिंह ने जंगल में भ्रमण कर रहे हाथियों के झुंड की पेंटिंग भेट कर सांसद को सम्मानित किया। डीएफओ ने बताया कि सांसद को दी गई हाथियों के झुंड की फोटो कतर्नियाघाट के जंगलों की है। जिसे गश्त के दौरान उन्होंने स्वयं ली थी।

पर्यटन क्षेत्र में बढ़ावा देने को हो रही पहल

कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग के पर्यटन क्षेत्र के अनुभाग अधिकारी मोहम्मद शफी ने बताया कि शासन की ओर से पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं लाई जा रही हैं । शासन की मंशा पर्यटन के क्षेत्र में कतर्नियाघाट वन्य जीव प्रभाग को बढ़ावा देने की है। पर्यटकों के आने से क्षेत्रीय ग्रामीणों के लिए रोजगार के अवसर भी बढ़ रहे हैं । उन्होंने कहा कि वन कर्मचारियों की ओर से पर्यटकों को मिलने वाली सभी सुविधाओं का पूरा ध्यान रखा जाता है। पर्यटकों को यहां असुविधा न हो इसके लिए सभी व्यवस्थाएं कर ली गई हैं।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The wait is over: Bahraich Katarniaghat Wildlife Division opens for tourists