DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  व्यू प्वाइंट से ताजमहल का दीदार हो सकता है महंगा, सीट पर बैठकर निहारने का अलग से देना होगा पैसा
उत्तर प्रदेश

व्यू प्वाइंट से ताजमहल का दीदार हो सकता है महंगा, सीट पर बैठकर निहारने का अलग से देना होगा पैसा

आगरा। मुख्य संवाददाताPublished By: Yogesh Yadav
Tue, 15 Jun 2021 06:48 PM
व्यू प्वाइंट से ताजमहल का दीदार हो सकता है महंगा, सीट पर बैठकर निहारने का अलग से देना होगा पैसा

ताजमहल के पार्श्व में मेहताब बाग पर बनाए गए व्यू प्वाइंट से ताजमहल का दीदार महंगा हो सकता है। सीटी पर बैठकर ताज निहारने के लिए ज्यादा पैसे देने पड़ सकते हैं। वहीं 11 सीढ़ी स्थिति एडीए के पार्क में ईवेंट करने की भी अनुमति मिल सकती है। इन विषयों पर मंगलवार को विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष राजेंद्र पैंसिया की अध्यक्षता में हुई बैठक में चर्चा की गई। 

बैठक में ताज व्यू प्वाइंट और उसके आसपास के इलाके में पर्यटकों के लिए बनाई जा रहीं सुविधाओं और उनमें सुधार के साथ-साथ प्रचार-प्रसार पर भी फोकस किया गया। इस दौरान बैठक में उपस्थित पर्यटन उद्यमियों ने अपने सुझाव भी दिए। उनका कहना था कि ताज व्यू प्वाइंट तक जाने के लिए गोल्फ कार्ट चलाई जाए, जिससे सैलानियों को वहां तक पैदल न जाना पड़े।

आसपास चाय, काफी के अलावा स्वाल्पाहर के लिए दुकानें खोलने की अनुमति दी जाए। पार्किंग की व्यवस्था ठीक होनी चाहिए। राज में भी ताज व्यू प्वाइंट से दीदार की व्यवस्था होनी चाहिए। यदि रोज नहीं हो सकती है तो मून लाइट के साथ-साथ ताजमहल की तरह महीने में पांच बार इसे जरूर खोला जाए। कोशिश की जाए कि रोज रात में भी ताजमहल खुले। इस इलाके में प्रकाश की व्यवस्था के साथ-सथ सैलानियों की सुरक्षा के लिए विशेष इंतजाम किए जाएं। 

विप्रा उपाध्यक्ष का कहना था कि ताज व्यू के लिए कई सीटें रखी हुईं हैं। इन सीटों पर बैठकर ताज देखने के लिए टिकट की दर अलग होनी चाहिए। ताजमहल में भी मुख्य गुंबद तक जाने के लिए अलग से टिकट लेनी होती है। साथ ही ये भी विचार किया गया कि विदेशी सैलानी का टिकट महंगा कर दिया जाए और भारतीय सैलानियों का टिकट सस्ता रखा जाए।

इस संबंध में अंतिम निर्णय लेने से पहले एडीए के अधिकारी और पर्यटन उद्यमी 19 जून को सुबह 5.30 बजे व्यू प्वाइंट पर जाकर स्थलीय निरीक्षण करेंगे। बैठक में अधिशासी अभियंता एपी सिंह, टूरिज्म गिल्ड के महातम सिंह, होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश चौहान,  टूरिस्ट गाइड वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष दीपक दान, एप्रूव्ड गाइड एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय शर्मा, होटल एंड रेस्टोरेंट आनर्स एसोसिएशन के सचिव अविनाश शिरामणि भी मौजूद रहे। 

संबंधित खबरें