DA Image
10 अप्रैल, 2020|6:06|IST

अगली स्टोरी

सोनभद्र की पहाड़ियों का जायजा लेने लखनऊ से पहुंची टीम

gold mine sonbhadra up

यूपी के सोनभद्र जिले में सोने का भंडार मिलने के बाद आला अधिकारियों  के जिले में आने का सिलसिला शुरू हो गया है। शनिवार को लखनऊ से जियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इण्डिया (जीएसआई) के चीफ इंजीनियर केके सिन्हा अपनी टीम के साथ जिले में पहुंचे। प्रया

खनिज विभाग के अनुसार तीन दिन के दौरे पर आए सिन्हा प्रदेश सरकार के निर्देश पर चोपन ब्लॉक के हरदी  के गोविंदी पहाड़ी, पनारी के  सोन पहाड़ी और भरहरी पहाड़ी का जायजा लेंगे। वन विभाग, राजस्व और खनिज विभाग की टीम के साथ खनिज संपदा वाले स्थानों का दौरा करेंगे। यह आंकलन करेंगे कि सोना निकालने के लिए वन और राजस्व की कितनी भूमि पर खनन किया जाएगा। खनन कार्य के लिए कितने ग्रामीणों का विस्थापन होगा। टीम यह भी जानने की कोशिश करेगी कि विस्थापित होने वालों की मांग क्या होगी।

टीम के आने की बाबत जब चीफ इंजीनियर केके सिन्हा से जानकारी चाही गई तो उन्होंने स्पष्ट कह दिया कि हम लोग अपना काम करने आए हैं। मीडिया को जो भी जानकारी चाहिए, वह जिले के खान अधिकारी से ले सकते हैं।

यूरेनियम की तलाश में पड़ोसी राज्य पहुंची टीम-

जिले में म्योरपुर ब्लाक के लीलासी-सांगोबांध मार्ग पर स्थित कुदरी पहाड़ी पर यूरेनियम होने की पुष्टि के बाद दिल्ली से आई केन्द्रीय परमाणु ऊर्जा विभाग की टीम अब पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में यूरेनियम की तलाश में सर्वे करने के लिए निकल गई। सूत्रों ने बताया कि टीम में शामिल वैज्ञानिक सोनभद्र जिले से सटे मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के कुछ इलाकों में यूरेनियम की तलाश में सर्वे करेंगे। उधर, कुदरी पहाड़ी पर यूरेनिय के लिए खुदाई के लिए चिन्हांकन किया गया है। यहां पर खुदाई का कब से शुरू होगा, इस बाबत कोई जानकारी नहीं हो सकी है। कारण है कि टीम के सदस्यों ने मीडिया से काफी दूरी बना ली है। यहां तक कि म्योरपुर क्षेत्र में जहां उनकी रिहाईश है, वहां पर किसी भी मीडियाकर्मी को जाने की अनुमति नहीं है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The team arrived from Lucknow to take stock of the Sonbhadra hills over gold reserves