DA Image
27 जनवरी, 2021|3:36|IST

अगली स्टोरी

संविधान की ताकत ही है कि भारत दुनिया में सबसे बड़ा लोकतंत्र : सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को कहा है कि भारत के संविधान की ताकत ही है कि यह दुनिया के अंदर सबसे बड़े लोकतंत्र का आदर्श बना हुआ है। सम-विषम परिस्थितियों में भी भारतीय संविधान हमें प्रेरणा प्रदान करता है। जाति, मत, सम्प्रदाय, भाषाएं, खान-पान की बहुलता होने के बावजूद भारतीय संविधान पूरे भारत को माला में पिरोए हुए है। 

वह लखनऊ में अपने सरकारी आवास पर संविधान दिवस के मौके पर संविधान की उद्देशिका का राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द के सान्निध्य में वर्चुअल पाठन किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश संहिता (द्विभाषी) के दो संस्करणों का विमोचन किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ था। आज ही के दिन संविधान सभा ने भारतीय संविधान को अंगीकृत किया। न्याय, स्वतंत्रता, समता और बन्धुता ये भारत की सबसे बड़ी विशेषता है। इन्हीं मूलभूत बातों को ध्यान में रखकर कार्यक्रम आगे बढ़ाए जा रहे हैं।

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रधानमंत्री की प्रेरणा से वर्ष 2015 से संविधान दिवस मनाया जा रहा है। आज का दिन अत्यन्त गौरव का दिन है। संविधान हम सबको अधिकारों व कर्तव्य से जोड़ता है। वर्तमान केन्द्र व राज्य सरकार बिना भेदभाव के सभी वर्गों को योजनाओं का लाभ समाज के अन्तिम पायदान पर खड़े व्यक्ति तक पहुंचाया जा रहा है।

उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है। भारत का संविधान राजधर्म है। भारत के लोगों से ही हमारा संविधान संरक्षित है। कार्यक्रम का संचालन संसदीय कार्य मंत्री श्री सुरेश खन्ना ने किया। विधि एवं न्याय मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि आज का दिन अत्यन्त महत्वपूर्ण है, क्योंकि आज ही के दिन हमारा संविधान अंगीकृत किया गया था। इस अवसर पर मंत्री, विधान परिषद सदस्य स्वतंत्र देव सिंह, मुख्य सचिव आरके तिवारी एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:The strength of the constitution is that India is the largest democracy in the world: CM Yogi