The prize crook reached the court hiding in the car s badge was absconded in firing on police case - कार की डिग्गी में छिपकर कोर्ट पहुंचा इनामी बदमाश, पुलिस पर की थी फायरिंग DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कार की डिग्गी में छिपकर कोर्ट पहुंचा इनामी बदमाश, पुलिस पर की थी फायरिंग

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में 6 अगस्त की रात सिपाही को गोली मारकर फरार चल रहे 50 हजार के इनामी बबलू यादव ने कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया। आरोपी के आत्मसमर्पण की खबर पाकर स्वाट टीम और कोतवाली पुलिस ने दीवानी परिसर की घेराबंदी की। लेकिन आरोपी ने स्वाट टीम और पुलिस को चकमा दे दिया। आरोपी आल्टो कार की डिग्गी में छिपकर कोर्ट के बाहर पहुंच गया और अंदर दाखिल हो गया। आरोपी के लिए डेरा जमाए स्वाट टीम और कोतवाली पुलिस हाथ मलती रह गई। 

6 अगस्त की रात कोतवाली के सिपाही अंकित चौधरी को गश्त के दौरान गोली मारकर घायल कर दिया गया था। इस घटना में भूरा उर्फ नूर आलम पुत्र शानअली निवासी महमूदनगर, बबलू यादव पुत्र दिलीप यादव निवासी अंजनी कोतवाली मैनपुरी व प्रदीप तोमर के नाम मुख्य रूप से सामने आए। आईजी आगरा ने इन तीनों हमलावरों की गिरफ्तारी पर 50-50 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया था। नूर आलम और प्रदीप तोमर की गिरफ्तारी स्वाट टीम प्रभारी जोगेंद्र सिंह ने कोतवाली पुलिस के सहयोग से की। लेकिन 50 हजार का इनामी बबलू यादव पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ रहा था। 

नाटकीय ढंग से दीवानी पहुंचा इनामी 

मैनपुरी। बुधवार को 50 हजार का इनामी बबलू नाटकीय ढंग से दीवानी पहुंच गया। उसे पकड़ने के लिए स्वाट टीम प्रभारी जोगेंद्र सिंह, कोतवाली प्रभारी ओमहरि बाजपेयी अपनी टीमों के साथ लगे हुए थे। दीवानी परिसर के मुख्य द्वार पर आने-जाने वालों पर नजर रखी जा रही थी। इसी बीच बबलू अपने साथी की मदद से कार की डिग्गी में छिपकर कोर्ट पहुंच गया और पुलिस हाथ मलती रह गई। कोर्ट ने उसे सुनवाई के बाद जेल भेज दिया है। एसपी अजय शंकर राय के निर्देश पर एएसपी ओमप्रकाश सिंह इनामी की गिरफ्तारी के लिए पिछले कई दिनों से लगे हुए थे। लेकिन आरोपी हत्थे नहीं चढ़ सका। 

एसपी मैनपुरी अजय शंकर राय ने बताया कि आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें लगी हुई थी। कार की डिग्गी में छिपकर वह कोर्ट पहुंच गया। इस घटना के दो अन्य आरोपी पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेजे जा चुके हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:The prize crook reached the court hiding in the car s badge was absconded in firing on police case