ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशबनियान में ट्रेन को झंडी दिखा रहा था प्वाइंट मैन, जीआरपी सिपाहियों ने जमकर धुना, दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

बनियान में ट्रेन को झंडी दिखा रहा था प्वाइंट मैन, जीआरपी सिपाहियों ने जमकर धुना, दौड़ा-दौड़ाकर पीटा

बलिया-छपरा रेलखंड के सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन पर राजकीय रेलवे पुलिस के दो सिपाहियों ने एक रेलकर्मी की जमकर पिटाई कर दी। रेलकर्मी स्टेशन मस्टर के कमरे में घुसा तो वहां भी उसे पीटा गया।

बनियान में ट्रेन को झंडी दिखा रहा था प्वाइंट मैन, जीआरपी सिपाहियों ने जमकर धुना, दौड़ा-दौड़ाकर पीटा
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,बलियाWed, 12 Jun 2024 07:57 PM
ऐप पर पढ़ें

बलिया-छपरा रेलखंड के सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन पर राजकीय रेलवे पुलिस के दो सिपाहियों ने एक रेलकर्मी की जमकर पिटाई कर दी। रेलकर्मी भागकर स्टेशन मस्टर के कमरे में घुसा तो वहां भी उसे पीटा गया। आरोप है कि सिपाहियों ने कर्मचारी को अगवा कर अपने साथ ले आए और करीब एक घंटे तक अपने आवास में बंधक बनाए रखा। जानकारी होने के बाद पहुंचे रेल अधिकारियों और आरपीएफ के जवानों ने कर्मचारी को मुक्त कराया। कर्मचारी की शिकायत पर जीआरपी के अधिकारियों ने दोनों सिपाहियों को निलम्बित कर दिया है। घटना की जांच का आदेश भी दिया है। जीआरपी के एसओ की मानें तो रेल कर्मचारी  बनियान पहनकर ड्यूटी कर रहा था। उसे संदिग्ध मानकर सतर्कतावश सिपाहियों ने पूछताछ की। इसके बाद मामला बिगड़ गया।

सुरेमनपुर रेलवे स्टेशन पर मंगलवार की रात ‘कांटा वाला’ के पद पर तैनात मनोज कुमार की ड्यूटी थी। रात करीब 11.51 बजे अप साइड से आ रही मालगाड़ी को झंडी (प्रोसिड) दिखाने के लिए वह प्लेटफार्म संख्या दो पर गए थे। आरोप है कि इस दौरान जीआरपी के दो सिपाहियों ने मनोज को पकड़ लिया और अनायास पिटाई करने लगे। जान बचाने के लिए वह स्टेशन मास्टर कक्ष में पहुंचे तो सिपाही वहां भी पहुंच गये। स्टेशन मास्टर दीपक सिंह ने बचाने का प्रयास किया, लेकिन पिटाई करते हुए दोनों सिपाही मनोज को अपने सरकारी आवास में लेकर चले गये। इसके बाद स्टेशन मास्टर ने घटना से अधिकारियों को अवगत कराया। 

जानकारी होने के बाद छपरा के स्टेशन डायरेक्टर राजेश प्रसाद, बलिया के यातायात निरीक्षक संजय सिंह, आरपीएफ के एसआई जयेंद्र मिश्र, एसओ जीआरपी (बलिया) सुभाष चंद यादव सुरेमनपुर पहुंच गए। काफी प्रयास के बाद रेलकर्मी को सिपाहियों के कब्जे से मुक्त कराया गया। साथ ही इसकी जानकारी उच्चाधिकारियों को दी गई। उन्होंने रेल पुलिस के अधिकारियों को इसकी सूचना दी। घायल रेलकर्मी का इलाज सदर अस्पताल में कराया गया। 

थानाध्यक्ष जीआरपी का कहना है कि इस मामले में दोनों आरोपी सिपाहियों हरिशंकर सिंह और हृदेश कुमार को निलम्बित कर दिया गया है। एसओ के अनुसार, रेलकर्मी बनियान पहनकर प्लेटफार्म के बेंच पर सोया था। सिपाहियों ने सतर्कतावश उससे पूछताछ की तो बात बढ़ गयी तथा वह उलझ गया। पहचान नहीं होने के चलते यह घटना हुई है।