DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  चंदौली में प्रधानपति की दुस्साहसिक अंदाज में हत्या, बदमाशों ने दौड़ाकर मारीं 5 गोलियां

उत्तर प्रदेशचंदौली में प्रधानपति की दुस्साहसिक अंदाज में हत्या, बदमाशों ने दौड़ाकर मारीं 5 गोलियां

चंदौली लाइव हिन्दुस्तानPublished By: Yogesh Yadav
Tue, 01 Jun 2021 04:42 PM
चंदौली में प्रधानपति की दुस्साहसिक अंदाज में हत्या, बदमाशों ने दौड़ाकर मारीं 5 गोलियां

चंदौली में बलुआ थाना क्षेत्र के महड़ौरा गांव में सोमवार की सुबह बदमाशों ने प्रधानपति पंकज सिंह उर्फ नित्यानंद (38) की गोली मारकर हत्या कर दी। बदमाशों ने प्रधानपति पर ताबड़तोड़ पांच गोलियां दागीं। इससे मौके पर ही उनकी मौत हो गई। इससे पहले कि लोग पहुंचते बदमाश फरार हो गए। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस छानबीन में जुटी है। घटना से गांव में दहशत का माहौल है। पंकज सिंह की पत्नी संगीता सिंह गांव की प्रधान हैं। मारे गए पंकज सिंह भाजपा के पूर्व मंडल इकाई महामंत्री थे। हत्यारों की गिरफ्तारी मांग करते हुए भाजपाइयों के अलावा काफी संख्या में ग्रामीण नेशनल हाइवे पर जुट गए और चक्काजाम कर दिया। एसडीएम और सीओ ग्रामीणों को मनाने में जुटे रहे।

परिजनों के अनुसार पंकज सोमवार की सुबह अपने बड़े भाई अखिलानंद सिंह के साथ गांव के बाहर पंपिंग सेट पर मौजूद थे। इसी बीच दो बाइकों पर सवार होकर छह बदमाश पहुंचे। जब तक प्रधानपति और उनके भाई बदमाशों का इरादा भांप पाते तब तक लक्ष्य कर उन्होंने ताबड़तोड़ फायर झोंक दिया। पंकज ने गोली लगने के बाद भागने का प्रयास किया लेकिन शरीर में लगातार पांच गोलियां लगने की वजह से 10 मीटर तक जाते-जाते गिर पड़े और मौके पर ही उनकी मौत हो गई। 

घटना के बाद बदमाश फरार हो गए। घटना से गांव में दहशत फैल गई। काफी संख्या में ग्रामीण घटनास्थल पर जुट गए। लोगों ने तत्काल इसकी सूचना पुलिस को दी। बलुआ एसओ उदयप्रताप सिंह व कैलावर चौकी प्रभारी रामचेत मिश्रा दलबल के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने ग्रामीणों से घटना के बारे में जानकारी ली। वहीं शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बदमाशों की तलाश में जगह-जगह नाकेबंदी कर चेकिंग की जा रही है। 

पूर्व प्रधान की हत्या में आरोपित रहे हैं प्रधानपति 
गांव के पूर्व प्रधान मनोज यादव की एक साल पहले गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पूर्व प्रधान को गांव के बाहर पुलिया के पास गोली मारी गई थी। ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया था। घटना में प्रधानपति पंकज आरोपित रहे हैं। पिछले दिनों जमानत पर छूटकर घर आए थे। परिजनों की ओर से अभी तहरीर नहीं दी गई है। पुलिस अपने स्तर से छानबीन में जुटी हुई है। एसओ का कहना रहा कि घटना से जुड़े सभी पहलुओं की जांच की जा रही है। जल्द ही बदमाशों को पकड़ लिया जाएगा।

संबंधित खबरें