ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश4 थानों की पुलिस को चकमा देकर रेप व अपहरण का मुख्य आरोपी फरार, एसओजी टीम भी थी

4 थानों की पुलिस को चकमा देकर रेप व अपहरण का मुख्य आरोपी फरार, एसओजी टीम भी थी

उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले में 4 थानों की पुलिस को चकमा देकर रेप व अपहरण का मुख्य आरोपी फरार हो गया। यही नहीं एसओजी टीम भी लगी थी। पुलिस जल्द गिरफ्तारी का दावा कर रही है।

4 थानों की पुलिस को चकमा देकर रेप व अपहरण का मुख्य आरोपी फरार, एसओजी टीम भी थी
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,बहराइचWed, 22 Nov 2023 01:50 PM
ऐप पर पढ़ें

बहराइच के अपहरण व बंधक बनाकर किशोरी से रेप मामले का पुलिस ने मंगलवार को खुलासा कर दिया। पुलिस ने टैंपो सहित चालक को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन रेप का मुख्य आरोपी चकमा देकर भाग निकला, जबकि आरोपित को दबोचने के लिए चार थानों की पुलिस संग एसओजी टीम भी लगाई गई थी। हालांकि पुलिस जल्द ही आरोपित को गिरफ्तार कर लेने का दावा कर रही है।  

एसपी सिटी कुंवर ज्ञानंज्य सिंह ने बताया कि 17 नवम्बर की सुबह नगर कोतवाली में दी गई तहरीर में जरवलरोड थाने के एक गांव निवासिनी महिला जिसकी 21 वर्षीय बेटी जिला अस्पताल में भर्ती थी, उसका आरोप था कि ई रिक्शा चालक सहित दो युवकों ने उसकी बेटी का अपहरण कर कमरे में बंधक बनाकर और नशीली चाय पिला रेप की वारदात की थी। तीन घंटे बाद अपहर्ता उसे रोडवेज के पास गंभीरावस्था में छोड़ गए थे। वहां से किशोरी मेडिकल कॉलेज में भर्ती हुई थी। किसी के मोबाइल से उसने अपने मामा को वारदात व भर्ती होने की जानकारी दी, जिसपर परिजन पहुंचे थे। इस मामले में पीड़िता की मां की तहरीर पर बंधक बनाकर रेप करने के मामले में केस दर्ज किया गया था। इस केस के खुलासे को छह टीमों को लगाया गया था। कई लोगों को हिरासत में भी लिया गया था।

 युवती की हालत ठीक होने पर जिला महिला थाना एसएचओ शीला यादव व अन्य पुलिस टीमें घटना स्थल की तलाश में निकली, दरगाह थाने के सालारगंज हसनगंज नई बस्ती स्थित मकान पर दबिश दी गई। वहां खून सना बिस्तर मिला। पुलिस टीमों ने यहां से महत्वपूर्ण साक्ष्यों को एकत्रित कर आरोपी की तलाश में नगर कोतवाल मनोज कुमार पांडेय, देहात कोतवाल ब्रह्म गोंड, दरगाह एसएचओ हरेन्द्र कुमार मिश्रा, पयागपुर थानाध्यक्ष कमल शंकर चतुर्वेदी, फखरपुर थानाध्यक्ष अनुज त्रिपाठी, स्वाट टीम प्रभारी राजकुमार पांडे, विशेश्वरगंज थानाध्यक्ष सूरज कुमार राणा व पुलिस टीमों ने दरगाह थाने के सालारगंज नई बस्ती हसन नगर निवासी बबलू को धर दबोचा। पीड़ित युवती से युवक की पहचान कराई गई है, उसका साथी फरार हो गया है। उसकी आपराधिक पृष्ठभूमि भी है। वह शहर में कम रहता है, आशंका है कि वह जिले के बाहर आपराधिक वारदातें अंजाम देकर अपने शहर आता है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

केस के खुलासे को उलझी रही टीमें

बहराइच। इस मामले में दी गई तहरीर में उल्लेख था कि हुजूरपुर से कैसरगंज पहुंची युवती को ई रिक्शा चालक हाथ पैर, मुंह बांध कर एक कमरे में लाए थे। युवती की जब हालत में सुधार आया, तो उसने बताया कि वह कैसरगंज से ई रिक्शे से घाघरा घाट गई थी, फिर दूसरे वाहन से लखनऊ पहुंची। वहां से बस से बहराइच आई। वहां डीजल आटो चालक उसे यह कहकर कि वह रात में कहां जाएगी। अपने हसन नगर स्थित घर ले गया। वहां उसके साथ रेप किया।

परिजनों ने भी लखनऊ जाने की स्वीकारी बात

इस मामले में केस दर्ज कराने वाली पीड़िता की मां ने बताया कि लखनऊ में उसके जेठ जेठानी परिवार सहित रहते हैं। उनकी बेटी 16 नवम्बर को कैसरगंज से लखनऊ चली गई थी। उसे पढ़ाई के लिए लखनऊ में दाखिला लेना था। लखनऊ से आते समय अंधेरा हो जाने की वजह से वह शहर आ रही थी। शहर के एक निजी अस्पताल में उसकी चाची काम करती हैं। वह उनके पास जाने वाली थी। पीड़िता की मां ने बताया कि जब बेटी की हालत में सुधार हुआ, तो उसे बेटी ने यह सब जानकारी दी। उससे पूर्व वह रिपोर्ट दर्ज करा चुकी थी।

कैसरगंज से शहर के विभिन्न इलाकों में भटकती रही टीमें

बंधक बनाकर रेप मामला काफी चर्चा में रहा। डीआईजी ने तो इसे गंभीरता से लिया ही, जिला प्रभारी व कैबिनेट मंत्री डॉ. संजय निषाद ने भी इस प्रकरण को गंभीरता से लिया। इस केस के खुलासे में कैसरगंज से शहर तक के सीसीटीवी खंगाले गए। एसपी सिटी कुंवर ज्ञानंज्य सिंह ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज से भी काफी तथ्य मिले हैं। दूसरे फरार आरोपी की तलाश की जा रही है। उसकी आपराधिक पृष्ठभूमि है। उस पर इनाम घोषित करने की प्रक्रिया चल रही है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें