ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशरायबरेली में पुलिस चौकी की छत पर चढ़ गया सांड, पुलिस वालों में मचा हड़कंप

रायबरेली में पुलिस चौकी की छत पर चढ़ गया सांड, पुलिस वालों में मचा हड़कंप

रायबरेली में एक सांड तो पुलिस चौकी की छत पर चढ़ गया। इससे पूरी चौकी में हड़कंप मच गया। नीचे भी लोगों की भीड़ जुट गई। पुलिस वालों ने किसी तरह सांड को नीचे उतारा, तब राहत की सांस ली गई।

रायबरेली में पुलिस चौकी की छत पर चढ़ गया सांड, पुलिस वालों में मचा हड़कंप
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,रायबरेलीWed, 10 Jul 2024 06:44 PM
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश में छुट्टा पशु खासकर सांड लोगों की जान का जंजाल बने हुए हैं। लोकसभा चुनाव और उससे पहले विधानसभा चुनाव के दौरान भी सांड का मामला मुद्दा भी बना था। इसके बाद भी इससे निजात नहीं मिल पा रही है। किसानों और आम लोगों के साथ ही सरकारी कर्मचारी, अधिकारी और यहां तक कि पुलिस वाले भी इन आवारा सांड से परेशान हैं। रायबरेली में एक सांड तो पुलिस चौकी की छत पर चढ़ गया। इससे पूरी चौकी में हड़कंप मच गया। नीचे भी लोगों की भीड़ जुट गई। कुछ लोगों ने इसका वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर डाला तो कुछ देर में ही वायरल हो गया। किसी तरह पुलिस वालों ने सांड को नीचे उतारने में सफलता पाई है।  

बताया जाता है कि यहां के सलोन थाने के अंतर्गत आने वाली सूची पुलिस चौकी के पास ही मकान का निर्माण हो रहा है। इसके लिए बनी सीढ़ी से होकर ही सांड पुलिस चौकी की छत पर पहुंच गया। देर रात लोगों ने सांड को पुलिस चौकी की छत पर देखा तो दंग रह गए। पहले तो लोग समझ ही नहीं सके कि आखिर चौकी की छत पर सांड कैसे पहुंचा होगा। फिर जब बगल के निर्माणाधीन मकान और वहां बनी सीढ़ियों के बारे में पता चला तो पूरा मामला समझ में आ गया। 

पुलिस चौकी की छत पर चढ़ने के बाद कुछ देर तो सांड खड़ा रहा फिर आराम से छत पर ही बैठ गया। सांड को चौकी की छत पर देख काफी ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। इसके बाद पुलिसकर्मियों ने सांड को छत से उतारने की जुगत लगानी शुरू की। किसी तरह सांड को पुचकारते और हंकाते हुए नीचे लाया गया। इसके बाद पुलिस वालों ने राहत की सांस ली। 

यूपी के अन्य जिलों की तरह रायबरेली के किसान भी सांडों का कोई स्थाई हल निकालने की सरकार से लगातार मांग कर रहे हैं। सरकारी स्तर पर इसके लिए प्रयास भी किया जा रहा है लेकिन यह प्रयास नाकाफी साबित हो रहा है। रोजाना सांडों के कारण हादसे हो रहे हैं और इसमें लोगों की जान भी जा रही है। जिन लोगों के परिजन सांडों के कारण मौत के मुंह में समा चुके हैं वह अधिकारियों और सरकार को कोस कर रह जा रहे हैं।