DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्राविधिक शिक्षा परिषद नहीं आ रहा हरकतों से बाज, जारी किए गलत रिजल्ट

JAC 12th Arts result 2018

प्राविधिक शिक्षा परिषद अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। एक तरफ 40 दिन में ऐतिहासिक रिजल्ट घोषित करने का रिकॉर्ड बनाया। दूसरी तरफ, आनन-फानन में गलत मार्क्स जारी कर हजारों छात्रों की मेरिट ही बिगाड़ दी। तृतीय वर्ष के छात्रों के गलत परीक्षा परिणाम घोषित हो गए। फिर क्या? छात्रों ने एक बार फिर सोशल मीडिया पर प्राविधिक शिक्षा परिषद की धज्जियां उड़ानी शुरू कर दीं। 

छात्रों ने सोशल मीडिया पर 'कब तक गलती करोगे बीटीईयूपी' और 'बीटीईयूपी की गलतियों का सिलसिला खत्म नहीं होगा' जैसे कमेंट करने शुरू किए। प्राविधिक शिक्षा परिषद को सोशल मीडिया पर चल रहे कमेंट के बाद अपनी गलतियों की जानकारी हुई। इसके बाद परिषद के अधिकारियों ने शुक्रवार गड़बड़ी को ढूंढ़ उसको खत्म कर संशोधित मार्कशीट जारी की। 

क्या है मामला? 

प्राविधिक शिक्षा परिषद ने तृतीय वर्ष के छात्रों के परीक्षा परिणाम में पूर्णांक में 42 नंबर अतिरिक्त जोड़ दिए। इससे छात्रों का प्रतिशत फल कम हो गया। गुरुवार रिजल्ट आने के बाद ही से सोशल मीडिया पर प्राविधिक शिक्षा परिषद को लेकर छात्रों ने कमेंट करना शुरू कर दिए। जो कि शनिवार तक सही हो सका। 

क्या है पूर्णांक?

डिप्लोमाधारी छात्रों के अंतिम वर्ष की मार्कशीट में प्रथम वर्ष के 30 फीसदी, द्वितीय वर्ष के 70 और तृतीय वर्ष के 100 फीसदी नंबर जोड़कर रैंक बनती है। प्रथम और द्वितीय वर्ष के प्राप्तांक का क्रमश: 30 व 70 फीसदी कॉलेज ने सही भरा, लेकिन इसके लिए जो पूर्णांक भरना वो प्राविधिक शिक्षा ने गलत भर दिया। इलेक्ट्रॉनिक्स के 1100 पूर्णांक पर 30 फीसदी के हिसाब से 330 की जगह 372 भरा गया। यही हाल मैकेनिकल ब्रांच के छात्रों की मार्कशीट के भी साथ हुआ। 

संशोधित रिजल्ट से बदली संस्थानों में मेरिट 

प्राविधिक शिक्षा की ओर से यह गड़बड़ी फिलहाल इलेक्ट्रॉनिक्स और मैकेनिकल के छात्रों के साथ हुई। इससे दोनों ही ब्रांच के छात्रों के लगभग दो प्रतिशत अंक बढ़ गए। इसके बाद पहले दिन संस्थानों में जारी हुई मेरिट सूची अचानक से शुक्रवार पूरी तरह से बदल गई। मजबूरन, संस्थानों को भी बदली हुई मेरिट सूची जारी करनी पड़ी। 

पूर्णांक से प्राप्तांक को भाग देकर मेरिट बनाई जाती है। छात्रों के गलत पूर्णांक चढ़ गए थे। गड़बड़ी का पता लगाकर इसको दूर करा दिया गया है और दूसरी मेरिट सूची जारी की गई है। 
संजीव कुमार सिंह, सचिव, प्राविधिक शिक्षा परिषद। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:technical education council released wrong result