ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशVideo: गर्मी के कारण स्कूल नहीं आ पा रहे थे बच्चे, टीचरों ने निकाला तगड़ा जुगाड़, क्लासरूम को बना दिया स्वीमिंग पूल

Video: गर्मी के कारण स्कूल नहीं आ पा रहे थे बच्चे, टीचरों ने निकाला तगड़ा जुगाड़, क्लासरूम को बना दिया स्वीमिंग पूल

कन्नौज से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां गर्मी के कारण बच्चे स्कूल नहीं आ रहे थे। इस पर टीचरों ने तगड़ा जुगाड़ निकाला। उन्होंने स्कूल के एक क्लासरूम को स्वीमिंगपूल में तब्दील कर दिया।

Video: गर्मी के कारण स्कूल नहीं आ पा रहे थे बच्चे, टीचरों ने निकाला तगड़ा जुगाड़, क्लासरूम को बना दिया स्वीमिंग पूल
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,कन्नौजTue, 30 Apr 2024 08:39 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के कन्नौज से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां गर्मी के मौसम के कारण बच्चे स्कूल नहीं आ रहे थे। इस पर टीचरों ने तगड़ा जुगाड़ निकाला। उन्होंने स्कूल के एक क्लासरूम को स्वीमिंगपूल में तब्दील कर दिया। नतीजा यह हुआ कि गर्मी से परेशान बच्चों ने इस जुगाड़ू स्वीमिंग पूल में जमकर मौज मस्ती की और इसका लुत्फ उठाया। बच्चों के इस स्वीमिंग पूल में मस्ती करने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। 

गर्मी का मौसम हो और बच्चों को ठंडे पानी में मस्ती करते हुए नहाने का मौका मिले तो भला इस  लुत्फ का कहना ही क्या। ऐसा ही कुछ देखने को मिला जिले के उमर्दा विकास खंड के गांव महसौनापुर प्राथमिक विद्यालय में। यहां बीते दिनों क्लास रूम में बच्चों को पढ़ाते समय शिक्षक के मुंह से स्वीमिंग पूल का जिक्र निकल गया। फिर क्या बच्चों ने शिक्षक से स्वीमिंग पूल के बारे में पूछा और इसका मजा कैसा होता है इसको लेकर स्वीमिंग पूल में नहाने की जिद पकड़ ली। 

इस पर विद्यालय के प्रधान अध्यापक वैभव सिंह राजपूत, मति शानू वर्मा, ओमी तिवारी, स्नेहलता, गौतम, एसएमसी सुरजीत चतुरबेदी, दीप्ति बब्ली, ने बच्चों को स्वामिंग पूल का लुत्फ दिलाने पर विचार किया। हलांकि विद्यालय के कक्ष में जुगाड़ू स्वीमिंगपूल बनाने को लेकर प्रधान अध्यापक वैभव सिंह राजपूत का कहना है कि इसके लिए पहले बच्चों के परिजनों से बात की गई। उनकी सहमति के बाद संकुल प्रभारी को अवगत कराया गया उनकी अनुमति के बाद ही यह स्वीमिंगपूल बनाया गया है। जिसमें बच्चों ने जमकर लुत्फ उठाया है। उनका कहना है कि इस तरह की गतिविधियों से बच्चे खुद स्कूल आने को उत्साहित हो रहे हैं। उन्होने बताया कि आगे विद्यालय परिसर में एक छोटा स्वीमिंगपूल बनाने पर विचार कर रहे हैं। इसके लिए ग्रामीण भी सहयोग को तैयार हो रहे ळैं। साथ ही स्कूल का स्टाफ भी इसमें सहयोग करेगा। ताकि बच्चों को पढ़ाई के साथ खेल गतिविधियों के प्रति भी जागरूक किया जा सके।