ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी के कमर्शियल वाहनों पर टैक्‍स का सिस्‍टम बदलेगा, परिवहन विभाग ने तैयार किया ये प्रस्‍ताव 

यूपी के कमर्शियल वाहनों पर टैक्‍स का सिस्‍टम बदलेगा, परिवहन विभाग ने तैयार किया ये प्रस्‍ताव 

Tax from commercial vehicles: कमर्शियल वाहनों से एकमुश्त टैक्स वसूलने का खाका परिवहन विभाग ने तैयार किया है। प्रस्ताव को अंतिम रूप देने के लिए मंगलवार से बुधवार तक विभागीय अफसर मंथन करेंगे।

यूपी के कमर्शियल वाहनों पर टैक्‍स का सिस्‍टम बदलेगा, परिवहन विभाग ने तैयार किया ये प्रस्‍ताव 
Ajay Singhलाइव हिन्‍दुस्‍तान,कानपुरWed, 22 May 2024 07:46 AM
ऐप पर पढ़ें

Commercial Vehicle: कानपुर सहित सूबे में चलने वाले कमर्शियल वाहनों से एकमुश्त टैक्स वसूलने का खाका परिवहन विभाग ने तैयार किया है। इस प्रस्ताव को अंतिम रूप देने के लिए मंगलवार से बुधवार तक विभागीय अफसर मंथन करेंगे। प्रस्ताव को फाइनल करके चुनाव बाद इसे शासन को भेज देंगे। इसके बाद कैबिनेट में इसे पेश करके मुहर लगेगी। हर हाल में सितंबर तक कमर्शियल वाहनों से नई व्यवस्था के तहत एकमुश्त टैक्स लिया जाएगा। पहले चरण में ई-रिक्शा, आटो, टेंपो, 7.5 टन भार लादने वाले वहान, जेसीबी, क्रेन, मैक्सी कैब, टैक्सी में प्रभावी किया जाएगा। 

15 से 25 फीसदी तक टैक्स बढ़ोतरी की तैयारी
परिवहन विभाग ने सभी तरह के वाहनों में 15 से 25 फीसदी तक टैक्स बढ़ाने की भी रूपरेखा तैयार की है। परिवहन विभाग का मानना है कि 13 सालों से वाहनों के टैक्स में किसी तरह की कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है। 

कमर्शियल वाहनों में अभी ये है कर व्यवस्था
टैक्सी,मैक्सी कैब पर            तिमाही या सालाना
थ्री व्हीलर                              सालाना
3 टन तक गुड्स                   तिमाही या सालाना
यात्री वाहन                           मासिक, तिमाही

बस, ट्रकों पर बाद में फैसला
यूपी में बस और ट्रकों को एकमुश्त टैक्स वसूलने के प्रस्ताव से अलग रखा गया है। अफसरों का मानना है कि इन वाहनों पर 8 से 10 हजार रुपये से अधिक मासिक टैक्स आता है तो एकमुश्त लेने में बड़ी रकम होगी। इस वजह से इन पर अभी कोई प्रस्ताव नहीं बना है। 

सितंबर से प्रभावी हो सकता है संशोधित टैक्स  
परिवहन विभाग ने जो प्रस्ताव तैयार किया है। इस पर सितंबर-2024 तक अमल होगा। परिवहन अधिकारी ने बताया कि जून में इसे शासन को भेजा जाएगा। वहां से इसे कैबिनेट बैठक में रखकर अनुमोदन कराया जाएगा। इस प्रक्रिया में तीन महीने का वक्त लगेगा। इस वजह से यह सितंबर-2024 में प्रभावी होगा। 

बकायेदारी से मिलेगी निजात
परिवहन अधिकारी ने बताया कि अभी कानपुर सहित पूरे प्रदेश में अकेले कमर्शियल वाहनों पर अरबों रुपये की बकायेदारी टैक्स के रूप में है। जब एकमुश्त कर का प्रावधान हो जाएगा तो बकायेदारी की वसूली की समस्या से निजात तो मिलेगी ही साथ ही भविष्य में टैक्स बकायेदारी की समस्या खत्म हो जाएगी।