DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झूठे गैंगरेप का धंधा, तांत्रिक-युवती की जोड़ी ने बर्बाद किए कई घर, पति को भी नहीं बख्शा

                                                                                 -

एक लाख के इनामी तांत्रिक नजाकत उर्फ पप्पू संग मिलकर प्रदेश के कई जिलों में वादी-पैरोकारों पर गैंगरेप के मुकदमे दर्ज कराने वाली महिला को मेरठ एसएसपी ने शनिवार को अपने कार्यालय से गिरफ्तार करा दिया। वह गैंगरेप के एक मामले में नामजद आरोपियों द्वारा धमकाने की शिकायत लेकर पहुंची थी। एसएसपी ने महिला की साथी को भी गिरफ्तार कराया। मौका पाकर उनके साथ आया एक बुजुर्ग भाग निकला। ब्रह्मपुरी थाने में दोनों महिलाओं के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है।

ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र के रसीदनगर निवासी महिला ने 12 मार्च को प्रतापगढ़ की शहर कोतवाली में पति सहित पांच लोगों के खिलाफ गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कराया था। आरोप था कि दंपति के बीच चल रहे विवाद में समझौते के लिए वह इलाहाबाद हाईकोर्ट जा रही थी। रास्ते में पति और अन्य लोगों ने उसके साथ रेप किया। हालांकि इस मामले में प्रतापगढ़ पुलिस फाइनल रिपोर्ट लगा चुकी है। इसी तरह इस महिला ने प्रयागराज और गाजियाबाद में भी गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कराया। मेरठ के दो थानों में भी गैंगरेप के दो मामले दर्ज कराए गए। सभी मामलों में पुलिस एफआर लगा चुकी है।

शनिवार को यह महिला एक अन्य महिला और बुजुर्ग के साथ एसएसपी दफ्तर पहुंची। एसएसपी को बताया कि प्रतापगढ़ में हुए गैंगरेप के आरोपी उसे केस वापसी के लिए धमका रहे हैं। धमकाने वाली घटना 22 अगस्त को भूमिया का पुल की बताई गई। एसएसपी अजय साहनी ने जानकारी ली तो पता चला कि यह महिला गैंगरेप के झूठे मुकदमे दर्ज कराती रहती है। एसएसपी ने ब्रह्मपुरी पुलिस को बुलाकर दोनों महिलाओं को गिरफ्तार करा दिया, जबकि उनके साथ आया बुजुर्ग मौका पाकर वहां से भाग निकला। इंस्पेक्टर रघुराज सिंह ने बताया कि दोनों महिलाओं के खिलाफ 420 और 120बी में मुकदमा दर्ज किया गया है।

चार साल से फरार है तांत्रिक नजाकत

27 सितंबर 2015 को लिसाड़ी गेट क्षेत्र के रसीदनगर निवासी नजाकत उर्फ पप्पू कचहरी में पुलिस कस्टडी से फरार हो गया था। वह 2013 में हुए चर्चित बिलाल मर्डर केस में आरोपी है। 2016 में फूलबाग कॉलोनी के महामंडलेश्वर की हत्या में भी उसका नाम आया था। हालांकि पुलिस ने उसे क्लीन चिट दे दी थी। सात अगस्त 2017 को लिसाड़ी गेट क्षेत्र में दादी-पोती को गोली मारने में भी नजाकत आरोपी है। फिलहाल मेरठ पुलिस ने उस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित है।

समझौते के लिए करा रहा है मुकदमे

एक लाख के इनामी नजाकत पर हत्या-जानलेवा हमले समेत कई मुकदमे दर्ज हैं। जिन्होंने मुकदमे दर्ज कराए हैं, उनके वादी, गवाह और पैरोकारों पर अब वह अपने पक्ष की महिलाओं से रेप-छेड़छाड़ के मुकदमे दर्ज करा रहा है। ऐसा वह इसलिए कर रहा है, जिससे अपने ऊपर दर्ज मुकदमों में समझौता हो सके। तीन दिन पहले दो महिलाएं एसएसपी से मिली थी। उन्होंने नजाकत द्वारा झूठे मुकदमे कराने की शिकायत की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:tanktrik and woman indulge in False gang rape business ruined many life even not spared husband