ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशस्वामी प्रसाद मौर्य कल नई पार्टी का करेंगे ऐलान, विपक्षी गठबंधन को लेकर कही ये बड़ी बात 

स्वामी प्रसाद मौर्य कल नई पार्टी का करेंगे ऐलान, विपक्षी गठबंधन को लेकर कही ये बड़ी बात 

स्वामी प्रसाद मौर्य 22 फरवरी को अपनी नई पार्टी का ऐलान करेंगे। उन्‍होंने कहा कि अब 22 फरवरी को नई पार्टी के गठन के साथ ही आगे की दिशा तय होगी। पिछड़े, दलित, अल्पसंख्यक समाज की लड़ाई को आगे बढ़ाऊंगा।

स्वामी प्रसाद मौर्य कल नई पार्टी का करेंगे ऐलान, विपक्षी गठबंधन को लेकर कही ये बड़ी बात 
Ajay Singhविशेष संवाददाता,लखनऊWed, 21 Feb 2024 11:28 AM
ऐप पर पढ़ें

Swami Prasad Maurya: स्वामी प्रसाद मौर्य 22 फरवरी को अपनी नई पार्टी का ऐलान करेंगे। उन्‍होंने कहा है कि अब 22 फरवरी को नई पार्टी के गठन के साथ ही आगे की दिशा तय होगी। पिछड़े, दलित, अल्पसंख्यक समाज की लड़ाई को आगे बढ़ाऊंगा। कहा कि मैं सपा से अब राह जुदा हो रही है, तो मेरी कोशिश रहेगी कि मैं ‘इंडिया’ गठबंधन में शामिल होकर या बाहर से उसका समर्थन करूंगा। 

बता दें कि स्वामी प्रसाद मौर्य ने मंगलवार को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता और विधान परिषद सदस्य के पद से इस्तीफा दे दिया था।  उन्होंने कहा है कि मैं पद के लिए न कभी आया हूं और न गया हूं, मैंने उनका लाभ का पद भी वापस कर दिया है। पद आता जाता है लेकिन विचारधारा टिकाऊ होती है इसलिए विचारधारा से कोई समझौता नहीं। मंगलवार को सपा प्रमुख अखिलेश यादव को भेजे पत्र में स्‍वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि आपके नेतृत्व में मुझे सौहार्दपूर्ण वातावरण में काम करने का अवसर प्राप्त हुआ। आपसे 12 फरवरी को हुई वार्ता और 13 फरवरी को भेजे पत्र पर किसी भी प्रकार की वार्ता की पहल न करने के फलस्वरूप मैं सपा की प्राथमिक सदस्य से भी इस्तीफा दे रहा हूं। इसके साथ ही विधान परिषद के सभापति को पत्र भेजकर एमएलसी पद से इस्तीफा दिया है।

इसमें कहा है कि मैं सपा के प्रत्याशी के रूप में विधान परिषद में निर्वाचित हुआ हूं। चूंकि मैंने सपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है, इसलिए नैतिकता के आधार पर इस पद से भी इस्तीफा दे रहा हूं। स्वामी प्रसाद ने बातचीत में कहा है कि अब 22 फरवरी को नई पार्टी के गठन के साथ ही आगे की दिशा तय होगी। पिछड़े, दलित, अल्पसंख्यक समाज की लड़ाई को आगे बढ़ाने के लिए मैं कदम आगे बढ़ा रहा हूं। 

उन्होंने कहा कि मैं लोकतंत्र और देश को बचाने के लिए समान विचारधारा के लोगों के साथ काम करूंगा। समाजवादी पार्टी से अब राह जुदा हो रही है, तो मेरी कोशिश रहेगी कि मैं ‘इंडिया’ गठबंधन में शामिल होकर या बाहर से उसका समर्थन करूंगा। अखिलेश यादव का समाजवादी सामने आ गया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें