DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जीभ साफ करने में गटका टूथब्रश, जीरो फिगर के चक्कर में बढ़ रहीं ऐसी घटनाएं

youth swallowed toothbrush in jaunpur (symbolic image)

आप टूथब्रश से जीभ और गले की सफाई करते हैं तो सावधान हो जाएं। टूथब्रश से जीभ की सफाई महंगी साबित हो सकती है। ब्रश पेट में भी जा सकता है। ऐसा ही एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। इसमें युवक जीभ की सफाई के दौरान टूथब्रश गटक गया। आनन-फानन परिवारीजन मरीज को लेकर केजीएमयू पहुंचे। यहां गैस्टोइंट्रोलॉजी विभाग के डॉक्टरों ने एंडोस्कोप से टूथब्रश निकालकर युवक की जान बचाने में कामयाबी हासिल की है।.

जौनपुर स्थित महराजगंज निवासी मनोज पटेल (27) मंगलवार को सुबह टूथब्रश कर रहे थे। इसी दौरान जीभ के पिछले हिस्से को साफ करते समय टूथब्रश खाने की नली में चला गया। उसके बाद मनोज को सांस लेने में भी काफभ् परेशानी शुरू हो गई। परिवारीजनों ने काफी देर पीठ ठोंकी। लिटाया। पानी पिलाया। नतीजतन ब्रश खाने की नली और पेट के बीच में अटक गया। 

मरीज को पेट में भी दर्द महसूस होने लगा। परिजन उसे स्थानीय अस्पताल ले गए। यहां डॉक्टरों ने मरीज की हालत देखते हुए उसे केजीएमयू रेफर कर दिया।आनन-फानन परिवारीजन मरीज को लेकर केजीएमयू ट्रॉमा सेंटर पहुंचे। ट्रॉमा से मरीज को शताब्दी फेज दो में भेज दिया गया। गैस्टोइंट्रोलॉजी विभागाध्यक्ष डॉ. सुमित रुंगटा ने मरीज का एक्सरे कराया। जांच में टूथब्रश दिखाई दिया। डॉक्टरों ने तुरंत ब्रश निकालने का फैसला किया। एंडोस्कोप तकनीक से टूथब्रश निकलाने की कवायद शुरू की। डाक्टरों ने काफी देर तक मरीज का इलाज किया।

चुनाव आयोग के कंट्रोल रूम से जुड़ेगा यूपी 100: ओपी सिंह

जीरो फिगर के चक्कर में घटनाएं बढ़ीं

इस संबंध में डॉ. सुमित रुंगटा ने बताया कि जीरो फिगर के लालच में लड़के और लड़कियां खाना खाने के कुछ देर बाद टूथब्रश की मदद से उल्टी करते हैं। इस वजह से टूथब्रश गटकने की कई घटनाएं हो चुकी हैं। उन्होंने बताया कि साल में एक से दो घटनाएं इस तरह की आ रही हैं। टूथब्रश निकालने में देरी से मरीज की जान जाखिम में पड़ सकती है। इसलिए ब्रश करते समय लोगों को जरूर सावधानी बरतनी चाहिए।

मशक्कत के बाद एंडोस्कोप से निकाला

डॉ. सुमित ने बताया कि मरीज को तत्काल एंडोस्कोपी कक्ष में ले जाया गया। उसकी एंडोस्कोपी की गई। तब तक टूथब्रश पेट तक पहुंच चुकी थी। एंडोस्कोपी के अन्य उपकरणों की मदद से टूथब्रश को पेट से खाने की नली एवं मुंह के रास्ते से बाहर निकालने में कामयाबी मिली। इस प्रक्रिया में आधे घंटे का समय लगा। उनहोंने बताया कि मरीज को बेहोशी नहीं दी गई थी। उन्होंने ब्रश निकालने के बाद शाम को मरीज की छुट्टी कर दी गई।

Train-18 में सफर के लिए अभी करना होगा और इंतजार, जानें क्यों

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:swallowed toothbrush while cleaning the tongue in juanpur such incidents increase on the pretext of getting Zero Figure