ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी के गन्ना किसानों के लिए सरकार का संदेश, पर्चियों के लिए करना होगा ये काम  

यूपी के गन्ना किसानों के लिए सरकार का संदेश, पर्चियों के लिए करना होगा ये काम  

किसानों को पेराई सत्र 2023-24 के लिए गन्ना पर्चियां केवल एसएमएस से उनके मोबाइल पर भेजी जा रही हैं। इसलिए गन्ना किसानों का सही मोबाइल नंबर ही पंजीकरण के समय डाला जाए। किसान भी इसकी जांच कर लें।

यूपी के गन्ना किसानों के लिए सरकार का संदेश, पर्चियों के लिए करना होगा ये काम  
Dinesh Rathourविशेष संवाददाता,लखनऊMon, 06 Nov 2023 08:04 PM
ऐप पर पढ़ें

किसानों को पेराई सत्र 2023-24 के लिए गन्ना पर्चियां केवल एसएमएस से उनके मोबाइल पर भेजी जा रही हैं। इसलिए गन्ना किसानों का सही मोबाइल नंबर ही पंजीकरण के समय डाला जाए। किसान भी इसकी जांच कर लें। गलत होने पर गन्ना पर्यवेक्षक के माध्यम से या ई-गन्न ऐप पर स्वयं अपना सही मोबाइल नंबर अपडेट कर लें।

आयुक्त गन्ना एवं चीनी प्रभु एन. सिंह ने बताया कि रोजाना करीब 10 प्रतिशत गन्ना पर्चियां एसएमएस पर भेजे जाने के बाद फेल हो जा रही हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं। नेटवर्क क्षेत्र से बाहर होना, मोबाइल का इनबॉक्स भरा होने, स्विच ऑफ होने या डीएनडी एक्टिवेट होने की स्थिति में ऐसा हो रहा हो।

इस तकनीकी समस्या के निवारण के लिए सभी किसान एसएमएस पर्ची प्राप्त करने के लिए अपने मोबाइल को नेटवर्क क्षेत्र में रखें, इनबॉक्स खाली रखें, मोबाइल को चार्ज कर सदैव चालू रखें और डीएनडी सर्विस को एक्टिवेट न करें, जिससे गन्ना पर्ची उन्हें रियल टाइम में मिल जाए। इस व्यवस्था में किसान के मोबाइल नंबर पर पर्ची प्राप्त होगी और समय से पर्ची मिल जाने के कारण ताजा गन्ना मिल को आपूर्ति होगा, जिससे किसान गन्ना सूखा होने वाले नुकसान से भी बच जाएंगे। उन्होंने सभी परिक्षेत्रीय अधिकारियों व जिला गन्ना अधिकारियों को भी निर्देश दिया है कि वह इसका प्रचार-प्रसार कराएं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें