ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशSubrata Roy death: सहाराश्री सुब्रत राय ने महज 2000 रुपए में गोरखपुर से शुरू किया था कारोबार, रहते थे किराए के मकान में

Subrata Roy death: सहाराश्री सुब्रत राय ने महज 2000 रुपए में गोरखपुर से शुरू किया था कारोबार, रहते थे किराए के मकान में

Subrata Roy death: सहाराश्री सुब्रत राय महज 2000 रुपए से शुरू किये गए फाइनेंस कंपनी के कारोबार को उन्होंने 2 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचाया।

Subrata Roy death: सहाराश्री सुब्रत राय ने महज 2000 रुपए में गोरखपुर से शुरू किया था कारोबार, रहते थे किराए के मकान में
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,मोरखपुरWed, 15 Nov 2023 06:19 AM
ऐप पर पढ़ें

सहारा समूह (Sahara grup) के संस्थापक सुब्रत रॉय (Subrata Roy) सहारा का लम्बी बीमारी के बाद मंगलवार को निधन हो गया। सहारा श्री का गोरखपुर से गहरा रिश्ता रहा है। उन्होंने न सिर्फ यहां से टेक्निकल पढ़ाई की बल्कि कारोबार की शुरुआत भी गोरखपुर से की। महज 2000 रुपये से शुरू किये गए फाइनेंस कंपनी के कारोबार को उन्होंने 2 लाख करोड़ रुपये तक पहुंचाया। सुब्रत राय ने वर्ष 1978 में अपने मित्र एसके नाथ के साथ फाइनेंस कंपनी शुरू की।

सिनेमा रोड स्थित कार्यालय के एक कमरे में दो कुर्सी और एक स्कूटर के साथ उन्होंने दो लाख करोड़ रुपये तक का सफर तय कर किया। जहां वह छोटे-छोटे दुकानदारों से बचत कराते थे। थोड़ी पूंजी हुई तो वर्ष 1978 में औद्योगिक क्षेत्र में कपड़े और पंखे की छोटी फैक्टरी शुरू की। इस दौरान वह स्कूटर से पंखा और अन्य उत्पादों को बेचा करते थे। दुकानों पर पंखा पहुंचाने के साथ ही वह दुकानदारों को छोटी बचत के बारे में जागरूक करते थे।

सहारा ग्रुप के मुखिया सुब्रत रॉय का मुंबई में निधन, लम्बे समय से थे बीमार

बैंकिंग जरूरतों के साथ रोजगार के अवसर के बीच सहारा की ‘गोल्डेन की’ योजना क्रान्तिकारी साबित हुई। जिसमें समय-समय पर होने वाली लाटरी ने निम्न मध्यम वर्ग को मजबूती से जोड़ा। वर्ष 1983-84 में कारोबारी मित्र एसके नाथ ने अलग होकर दूसरी कंपनी स्थापित कर ली। इसी साल सुब्रत राय ने लखनऊ में कंपनी का मुख्यालय खोला। 

बेतियाहाता में किराए के मकान में रहते थे
सुब्रत राय बेतियाहाता में अधिवक्ता शक्ति प्रकाश श्रीवास्तव के घर में किरायेदार थे, जहां उनके बच्चों का भी जन्म हुआ। शुरुआती दिनों में रेलवे के बाद पूर्वांचल के बेरोजगारों को रोजगार देने वाली प्रमुख कंपनी सहारा ही थी। सुब्रत राय का गोरखपुर से खासा लगाव था। मीडिया क्षेत्र हो या फिर रियल इस्टेट गोरखपुर में उनकी कंपनी ने दोनों क्षेत्र में बड़ा निवेश किया। वर्ष 2000 में यूनिट का शुभारंभ करने मिलेनियम स्टार अमिताभ बच्चन पहुंचे थे। टाउन हाल स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी से लेकर छात्र संघ चौराहे पर विवेकानंद की प्रतिमा तक को संवारा।

बॉलीवुड के अभिनेताओं को लाने का श्रेय
सुपर स्टार अनिल कपूर, दीया मिर्जा से लेकर बालीवुड के नामचीन चेहरों को गोरखपुर में लाने का श्रेय सुब्रत राय को जाता है। ज्योतिषाचार्य कृष्ण मुरारी मिश्रा के वहां वैवाहिक कार्यक्रम में बालीवुड के सभी प्रमुख चेहरों की मौजूदगी से गोरखपुर सुर्खियों में आया था। एक बार गोरखपुर से जुड़ाव को लेकर सुब्रत राय ने कहा था कि ‘जब भी गोरखपुर आता हूं, मुझे बहुत अच्छा लगता है। ये मेरा घर है। पूरी दुनिया में तमाम शहर हैं लेकिन गोरखपुर मेरे लिए खास है।’

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें