DA Image
8 अप्रैल, 2021|9:24|IST

अगली स्टोरी

बाबा साहेब की जयंती पर 14 को सपा मनाएगी दलित दीपावली, अखिलेश यादव ने बताया कारण

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा की राजनीतिक अमावस्या काल में संविधान खतरे में है। बाबा साहेब ने स्वतंत्र भारत को नई रोशनी दी थी, इसलिए डा. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर 14 अप्रैल को समाजवादी ‘दलित दीवाली’ मनाएंगे। 

अखिलेश के निर्देश पर सपाई 14 अप्रैल को देशव्यापी ‘दलित दीवाली’ मनाएंगे। प्रदेश के प्रत्येक जिले और देशभर में कार्यकर्ता शाम को समाजवादी पार्टी कार्यालय, अपने घरों पर, सार्वजनिक स्थल या डा. अंबेडकर की प्रतिमा स्थल पर दीपक जलाकर श्रद्धा के साथ नमन करेंगे।

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की संस्थाओं को कमजोर करने में भाजपा ने जरा भी संकोच नहीं किया है। संविधान में वर्णित विश्वास, धर्म, उपासना और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को असहिष्णुता ने अप्रभावी कर दिया है। सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक न्याय की अवधारणा को समाप्त कर दिया गया है।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार पूरी तरह बदले की भावना से काम कर रही है। बाबा साहेब ने संविधान में प्रतिष्ठा और अवसर की समता की जो गारंटी दी थी उसकी अवहेलना करते हुए अब भाजपा सरकार आरक्षण समाप्त करने की भी कोशिश में है। नफरत और समाज को बांटने की राजनीति चलाकर भाजपा ने पूरे समाज में जहर घोल दिया है। परस्पर विभेद और विद्वेष की ताकतों को बढ़ावा दिया जा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:SP will celebrate 14th on the birth anniversary of Baba Saheb Dalit Deepawali Akhilesh Yadav said the reason